Top 5 Best Yoga Poses in Hindi: Yoga Asanas aur Phayde

3
99
Top 5 Yoga aur phayde

योग करने के तरीके और फायदे

Hi Friends! यह है Top 5 Yoga aur Phayde के बारे में एक डिटेल लेख. आज के व्यस्त जीवनशैली में योग की बहुत ही जरुरत है. क्योंकि आप सभी अपने–अपने काम में व्यस्त रहते हैं, जिससे अपने स्वास्थ्य की आप जरा-सा भी ध्यान नहीं दे पाते हैं. स्वास्थ्य के लिए हम सभी को योग करना जरुरी है.

तो आज मैं आप सभी को कुछ Top 5 Best Yoga Poses in Hindi के बारे में बताने जा रही हूँ. अगर आप भी Benefits of Yoga Asanas in Hindi के बारे में जानना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

1. Uttan Mandukasana Kya Hota Hai?

फ्रेंड्स, Top 5 Yoga aur Phayde की लिस्ट में सबसे पहला योगासन “उत्तान मंडूकासन” है. Uttan Mandukasan Kya Hai? उत्तान शब्द का अर्थ उर्ध्व और मंडूक का अर्थ मेंढक है.

इस आसन में मेंढक जैसी अवस्था में उर्ध्वमुर्ख होना पड़ता है. इसी कारण इस आसन का नाम उत्तनामंडूकासन पडा. उत्तानमंडूक आसन में कोहनियों के सहारे सिर को थामा जाता है.

Uttan Mandukasana Kaise Kare?

सबसे पहले वज्रासन में बैठकर अंगूठों को मिलाते हुए दोनों घुटनों को जितना अधिक हो सके फैलाना है. दायें हाथ को उठाकर पीछे ले जाकर दाहिने कंधे से ऊपर उठाएं. इसके बाद हथेली को बायीं तरफ के कंधे के निचे लायें.

इसी क्रिया को बाएं हाथ का उपयोग करते हुए करें और अपनी हथेली को ऊपर ले जाकर दायें कंधे के निचे ले आयें. कुछ देर तक इसी स्थिति में रुकें. इसके बाद धीरे-धीरे बाएं हाथ और फिर दायें हाथ को वापस ले आयें. अपने घुटनों को मिला कर उसी स्थिति में आ जायें.

Mandukasana Karne ki Vidhi के बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप निचे दिए हुए YouTube Video को भी देख सकते हैं.

Uttan Mandukasana ke Phayde

  • उत्तान मंडूकासन करने से फेफड़े से सम्बंधित समस्या दूर होती है तथा फेफड़े की कार्य क्षमता में वृद्धि करता है.
  • यह आसन पीठ दर्द और ग्रीवा की तकलीफ से छुटकारा दिलाता है.
  • यह आसन शरीर के भाग लिए लाभदायक है.

2. Marichyasana (vakrasana) Kaise Karate Hai?

Top 5 Yoga aur Phayde की सूचि में दूसरा आसन Vakrasana Kya Hai? वक्र शब्द का अर्थ घुमाव अथवा ऐंठन है. इस आसन के अभ्यास में मेंरुदंड की अस्थि को घुमाते हैं.

इससे शरीर की आकृति वक्र हो जाती है इस कारण इसे वक्रासन कहते हैं. इसके अभ्यास से शरीर में कार्य करने की क्षमता को नया जीवन मिलता है.Top 5 Yoga aur Phayde Vakrasana

Marichyasana (Vakrasana) Kaise Kare?

  • इसमें सबसे पहले दायें पैर को मोड़ते हुए उसके पंजे को बाएं घुटने के बगल में रखें.
  • साँस को बाहर छोड़ते हुए शरीर को दायीं तरफ घुमाएँ.
  • बाएं हाथ को दायें घुटने के पास लाकर और दायें पैर के अंगूठे को पकड़ लें.हथेली को दायें पैर के पास रखें.
  • दायें हाथ को पीछे ले जायें और हथेली जमींन पर रखें, जब तक पीठ लम्बवत न हो जायें.
  • इस स्थिति में 10 से 30 सेकंड तक रहें और सामान्य ढंग से साँस लेते रहें और शरीर को शिथिल रखें.

Marichyasana Vakrasana Ke Phayde

  • वक्रासन मेरुदंड की अस्थि में लचीलापन बढाता है और कब्ज एवं dyspepsia को दूर करने में सहायता प्रदान करता है.
  • Pancreas की शक्ति बढाता है.
  • मधुमेह के रोग को दूर करता है.
  • इस आसन को करने से शरीर निरोग रहता है.


3. Makarasana Kya Hai?

मकरासन संस्कृत भाषा के दो शब्दों से मिलकर बना है. मकर शब्द का अर्थ होता है मगर या घड़ियाल. इस आसन में शरीर की स्थिति मगर की आकृति के समान हो जाती है. इसलिए इसे मकरासन कहा जाता है.

Makrasana Kaise Kare?

  • इस आसन को करने के लिए पहले उदर के बल लेट कर पैरों को एक- दुसरे से फैलाकर रखें.
  • उसके बाद दोनों हाथों को मोड़ते हुए बाएं हाथ पर दायाँ हाथ रखना है.
  • इसके बाद ललाट को अपने हाथों पर रखना है और आँख को धीरे- धीरे बंद करें. यह स्थिति मकरासन कहलाती है.
  • सभी प्रकार के आसनों के बाद शिथिलीकरण के लिए इस आसन का अभ्यास किया जाता है.

Makrasana Benefits in Hindi

यह हमारे शरीर के निचले भाग के लिए लाभदायक होता है. पीठ सम्बन्धी समस्याओं को दूर करने में उपयोगी है. पीठ संबधी को दूर करता है.

इसे भी पढ़ें: Height Badhane ka Yoga, Tadasana Kaise Karte Hai?

4. Bhujangasana Kaise Karte Hai?

अब हम Top 5 Yoga aur Phayde में भुजंगासन के बारे में जानेंगे.

  • इसमें सबसे पहले पेट के बल लेट कर अपने दोनों हाथों पर सिर को टिका कर रखते हुए शरीर को शिथिल रखना है.
  • अब अपने दोनों पैरों को आपस में मिला लें.
  • हाथों को खिंच कर रखते हुए ललाट को जमीन पर टिका रहने दें.
  • हथेली को कोहनी को जमीन पर स्थिर कर रखें.
  • धीरे- धीरे साँस अन्दर खींचते हुए ठुड्डी और नाभि क्षेत्र तक शरीर को ऊपर उठायें.
  • कुछ समय तक इस स्थिति में आराम से रहें.
  • इस अभ्यास को सरल भुजंगासन कहा जाता है.

Bhujangasana ke Phayde Kya Hai?

भुजंगासन तनाव प्रबंधन के लिए आसन सर्वश्रेष्ठ होता है. यह उदर के अतिरिक्त वसा को घटाता है. कब्ज की समस्या को दूर करता है. पीठ दर्द और साँस नली से सम्बंधित समस्याओं को दूर करता है. यह आसन पेट से सम्बंधित सभी रोगों के लिए लाभकारी है.



5. Salbhasana Kya Hai?

तो अब हम बात करेंगे Top 5 Yoga aur Phayde के अंतिम योगासन Salbhasana Kya Hota Hai? के बारे में. शलभासन में शलभ शब्द का अर्थ टिड्डी होता है, जो एक प्रकार का कीड़ा होता है.

इस आसन में शरीर को इसी कीड़ा की आकृति के जैसा बनाना होता है. यह आसन पीठ दर्द के रोगियों के लिए लाभदायक होता है.

Salbhasana Kaise Karte Hai?

अब आप सोच रहें होंगे कि Salbhasana Kaise Kare? तो मैं आप सब को बता दूँ कि इसमें सबसे पहले मकरासन की स्थिति में लेट जायें.

  • उसके बाद ठुड्डी को जमीन पर टिका कर दोनों हाथों को शरीर के बगल में रख लें.
  • ध्यान रहे कि हथेलियाँ ऊपर की ओर होनी चाहिए.साँस अन्दर खींचें, घुटनों को मोड़े बिना पैरों को जमीन से जितना हो सके ऊपर उठायें.
  • अब हाथों को इस तरह दबाएँ की शरीर जमीन से आसानी से ऊपर उठ सकें. इस स्थिति में 10 से 20 सेकंड तक रहें और सामान्य रूप से साँस लेते रहें.
  • उसके बाद साँस बाहर छोड़ते हुए पैरों को जमीन पर वापस लायें.

Salbhasana Ke Phayde Kya Hai?

यह आसन sciatica और पीठ के निचले हिस्से के पीड़ा को दूर करने में सहायक होता है.

नितंबों की मांसपेशियों और वृक्क क्षेत्र को सुसंगठित बनाता है. जांघों और नितंबों पर एकत्रित अतिरिक्त वसा को कम करता है.

शरीर के वजन को नियंत्रित बनाये रखने  यह आसन काफी उपयोगी है. उदर के अंगों को लाभ पहुंचाता है. देखा जाये तो यह आसन पेट से सम्बंधित रोगों और मोटापा (fat) को कम करता है.

इसे भी पढ़ें: Chandra Namaskar Kaise Karte Hai?

Conclusion: Top 5 Yoga aur Phayde

फ्रेंड्स, बस यही है कुछ Best Yoga Poses in Hindi के बारे में जानकारी. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Top 5 Yoga aur Phayde अच्छा लगा होगा. और अब आप अच्छे-से समझ गये होंगे कि Yoga ke Phayde Kya Hai?

अगर आपके मन में इससे सम्बंधित किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो आप हमें निचे Comment कर के जरुर बतायें. अगर आप इसी तरह के और भी Health Blogs in Hindi पढ़ना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते है.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here