Padmasana Kya Hai? पद्मासना करने की विधि, फायदे और सावधानियां

0
51
Padmasana ke Phayde

Padmasana Kaise Karte Hai?

Hi Friends! क्या आप Padmasana ke Phayde जानते हैं. पद्मासन का अभ्यास करने से मेरुदंड के निचले भाग एवं आमाशय में फैली तंत्रिकाओं को पोषण प्राप्त होता है.

इससे पैरों में खून का प्रभाव कम हो जाता है. रक्त का प्रवाह सुचारू होने के कारण पैर, मांसपेशियों तथा स्नायु तंत्र के स्वास्थ्य में त्वरित वृद्धि होती है.

तो आज मैं आपसे इसी विषय पर बात करने जा रही हूँ कि Padmasana ke Phayde Kya Hai? अगर आप भी जानना चाहते हैं कि Padmasana Kaise Karte Hai? तो आप यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

Padmasana Kya Hai?

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम बात करेंगे कि Padmasana Kise Kahte Hai? लम्बे समय तक शरीर को बिना हिलाए-डुलाये और बिना कष्ट दिए बैठे रहना ही ध्यान का मुख्य उद्देश्य है.

ध्यान की अनुभूति शरीर को कुछ समय तक स्थिर और शांत रखने पर ही प्राप्त की जा सकती है. मेरुदंड को सीधा रखना और ध्यान की अनुभूति करना ही पद्मासन कहलाता है.

शवासन (Shavasana) इन शर्तों को पूरा तो करता है, पर शवासन में नींद आने की आशंका रहती है. अत: पद्मासन शरीर को बिना हलाये-डुलाये तीन- चार घंटे तक स्थिर बैठने की क्षमता प्राप्त करने वाला अच्छा आसन है.

इसमें आप ध्यान एवं प्राणायाम की उच्च अवस्थाओं की साधना करने हैं. इसमें आप मस्तिष्क को एक बिंदु पर केन्द्रित कर आत्मिक आनंद की अनुभूति प्राप्त कर सकते हैं.

Padmasana Kaise Kare?

अब हम बात करेंगे Padmasana Karne ki Vidhi के बारे. पद्मासन में धड और सिर इस तरह सीधे रहते हैं, मानों वे पत्थर से बने खम्भे हों और पैरों को आधार प्रदान करते हों.

  • पद्मासन योगासन करने के लिए सबसे पहले आपको जमीन पर कुछ बिछा लेना चाहिए जो उपलब्ध है, चटाई, कम्बल, गद्दा आदि.
  • उसके बाद दोनों पैरों को फैला कर बैठ जाएँ.
  • फिर धीरे-धीरे सावधानी पूर्वक एक पैर के पंजे को दुसरे जांघ पर व दुसरे को पहले जांघ पर रखें.
  • तलवा ऊपर की ओर रखना है तथा एडी पेट के अग्रभाग के निचले हिस्से को स्पर्श करेगी.
  • अंतिम स्थिति में दोनों घुटने जमीन को स्पर्श करें, तभी पद्मासना की स्थिति पूरी होगी.
  • सिर और मेरुदंड सीधे और कंधे तनाव मुक्त रखें. हाथों को ज्ञान मुद्रा में घुटनों के ऊपर रखें.
  • कोहनियों को थोडा मोड़ते हुए भुजाओं को विश्राम दें और देख लें कि कंधे उठे या झुके हुए न हों.
  • आँखें बंद कर लें और सम्पूर्ण शरीर को शिथिल छोड़ दें.
  • अपने शरीर के आकृति का आवलोकन करें. आगे पीछे खिसककर शरीर को पूरी तरह संतुलित और एक सीध में कर लें.

Padmasana ke Phayde

  • शरीर का पूरी तरह एक सीधा में होना ही पद्मासन की सही स्थिति है.

Padmasana Benefits in Hindi

  • पद्मासन योग करने से मेरुदंड के निचले भाग पर दबाव पड़ता है इससे तंत्रिका-तंत्र पर विश्राम दायक प्रभाव पड़ता है.
  • इस आसन में श्वास धीमी हो जाती है. पेशीय तनाव घट जाता है. रक्त चाप में गिरावट आती है.
  • मेरुदंड के निचले भाग एवं आमाशय में फैली तंत्रिकाओं को पोषण प्राप्त होने से पैरों में खून का प्रभाव कम हो जाता है.
  • इससे अमाशय को खून की अतिरिक्त आपूर्ति होती है.
  • ये आसन करने से जठराग्नि भी तीव्र होती है और भूख बढती है.
  • दमा के रोगियों के लिए पद्मासन बहुत ही लाभकारी है.


Padmasana ke Labh

  • इस आसन को करने से शरीर का जोश (Vitality) बढ़ता है.
  • योग शरीर और मन का संतुलन तो बढाता ही है, हमारे शारीरिक क्रियाओं में भी सहायक है.
  • जैसे कि सेक्स भी मानव जीवन का अभिन्न अंग है.
  • इससे कूल्हों के जॉइंट, मांसपेशियां, पेट, मूत्राशय और घुटनों में खिंचाव आता है, जिससे इनमें मजबूती आती है.
  • निचे का पैर लिंग मूल में स्थित होकर मूलाधार चक्र को दबाता है.
  • परिणामस्वरूप योग ऊर्जा-तरंगे मेरुदंड से होकर मस्तिष्क तक पहुँचने लगती हैं और सारे चक्र सही से कार्यान्वित हो जाते हैं.

Padmasana Karne ki Savdhani

Padmasana ke Phayde जानने के बाद आप सभी इसे करना चाहेंगे, लेकिन इस आसन को करते समय कुछ सावधानी भी रखना होगा.

  • जो लोग साईंटिका (Sciatica) रोग से पीड़ित उसे नहीं करना चाहिए.
  • जिनके घुटने कमजोर हैं या उस में चोट लगी है, वह व्यक्ति इस आसन को न करें.

Conclusion: Padmasana ke Phayde

तो फ्रेंड्स, बस यही है, Padmasana ke Phayde in Hindi. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से भी समझ में आ गया होगा कि Padmasana Kaise Karte Hai?

पद्मासन के फायदे से सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और भी Yoga Blogs in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here