Education

Negative Marking se Kaise Bache? Reduce Negative Marking in Exams

Negative Marking se Kaise Bache
MN Hemant
Written by MN Hemant

Negative Marking se Kaise Bache?

Hi friends! क्या आपको पता है कि Negative Marking se Kaise Bache? किसी अच्छे संस्थान में Admission Entrance Exam हो या Government Job के लिए आयोजित होनेवाली Competitive Exams, अधिकतर परीक्षाएं बहुविकल्पीय पैटर्न पर आधारित होती हैं. इस पैटर्न पर आयोजित होनेवाली ज्यादातर परीक्षाओं में Negative Marking का प्रावधान होता है.

आप किसी भी Competitive Exam के लिए कितना भी तैयारी कर लें, लेकिन Negative Marking से आप उसमें असफल भी हो सकते हैं. इसलिए, Exam Preparation जितना जरुरी है, Tips to Reduce Negative Marking in any Exam के बारे में जानना उतना ही जरुरी है. नहीं, तो पूरी तैयारी के बावजूद भी आप संतोषजनक marks नहीं प्राप्त कर पाएंगे.

आज मैं आपको Negative Marking Meaning in Hindi के बारे में बताऊंगा. साथ ही Negative Marking Kaise Hoti Hai? How to deal with Negative Marking in any Exam? How to Reduce Negative Marking in Competitive Exams? इन सभी के बारे में भी हम बात करेंगे.

अगर आप भी किसी Competitive Exam की तैयारी कर रहे हैं. और चाहते हैं कि उस परीक्षा में संतोषजनक प्रतिशत से सफल हों, तो इन Tips to Avoid/Reduce Negative Marking in any Exam को जरुर याद रखें. मुझे आशा है कि Negative Marking se Kaise Bache? आर्टिकल से आपको जरुर सफलता मिलेगी.

Negative Marking se Kaise Bache

Negative Marking Kya Hoti Hai?

किसी भी परीक्षा में Negative Marking se Kaise Bache? इसके बारे में बात करने से पहले हम Negative Marking Kya Hoti Hai? इसके बारे में बात करेंगे. यानि What is Negative Marking in Hindi?

अगर आप किसी भी सवाल का गलत जवाब देते हैं, तो उसके लिए आपको कोई number तो नहीं मिलता है. लेकिन, आपको जितने भी number प्राप्त हुए हैं तो उससे आपका number काट लिया जाता है.

उदाहरण के लिए, किसी competitive exam में 5 MCQs हैं. प्रत्येक सवाल के सही जवाब देने पर आपको 2 number मिलेंगे और गलत जवाब देने पर 1 number काट लिए जाएंगे. यहाँ पर आपका Full Marks 10 हो गया.

अगर आप चार सवाल का सही जवाब देते हैं, तो आपको 8 number मिल गये. और आपने एक गलत जवाब दिया, तो इसके लिए आपके प्राप्तांक से 1 number घटा दिया जाएगा. यानि आपको कुल 7 number ही मिलेंगे. यही है Negative Marking.



मुझे आशा है कि अब आपको Negative Marking Kya Hoti Hai? पता चल ही गया होगा. तो आप उदाहरण में देख सकते हैं, एक wrong answer के कारण आपका total marks कम हो गया. अब हम बात करते हैं Negative Marking se Kaise Bache?

Tips to Reduce Negative Marking in Exams

हम परीक्षा में सफलता के लिए कड़ी मेहनत तो करते हैं, लेकिन Negative Marking se Kaise Bache? इस पर अमूमन कम ही ध्यान दे पाते हैं.

कई बार कड़ी मेहनत करने के बाद भी जब परिणाम हमारे अनुकूल नहीं आता, तो हम सोचते हैं कि आखिर कहाँ चुक हुए. ऐसे में सफलता के लिए सबसे अहम् होता है कि हम स्वयं का आकलन करें. आकलन के इस क्रम में बहुत-सी बातों को शामिल करना जरुरी है.

मसलन, सिलेबस को कवर करने के लिहाज से पढाई के घंटे पर्याप्त हैं या नहीं, प्रश्नों को हल करने की गति परीक्षा के लिए तय अवधि के अनुकूल है कि नहीं? इसके साथ परीक्षा में Negative Marking का प्रावधान है, तो इस पर भी जरूर गौर करें. Negative Marking से बचने के लिए कुछ बातें समझना बेहद जरूरी है.

इसे भी पढ़ें: Internship Kya Hota Hai?

Reasons behind Negative Marking

Negative Marking se Kaise Bache? इससे पहले यह समझना जरूरी है कि Negative Marking के पीछे परीक्षक का मकसद क्या होता है? JEE, NEET, GATE या CAT, AFCAT जैसी परीक्षाओं में परीक्षक हमेशा उन अभ्यर्थियों को छांटना चाहते हैं, जिनमें आवश्यक ज्ञान और आत्मविश्वास की कमी होती है.

इसी वजह से Competitive Exams के प्रश्न इस तरह से तैयार किये जाते हैं, जो आसानी से अभ्यर्थी की समझ का परीक्षण कर सकें. जरूरी है परीक्षा में शामिल होने से पहले अभ्यर्थी को इसके बारे में यानि Ways to overcome Negative Marking के बारे में अच्छे से पता हो.

इसे भी पढ़ें: Civil Engineer Kaise Bane?

Negative Marking se Kaise Bache Guess Answers

Guess Answers: Negative Marking se Kaise Bache?

बहुविकल्पीय प्रश्नों में अनुमान लगाने (Guess) की प्रवृति बहुत आम है. कई बार अभ्यर्थी तनाव या अति आत्मविश्वास के कारण आसान सवाल का भी गलत जवाब दे देते हैं. यह गलती आपको Negative Marking की ओर ले जाती है. इसलिए प्रश्नों पर ध्यान केंद्रित करना और समय का प्रबन्धन करना बहुत महत्वपूर्ण है.

इसके साथ ही जवाब देने की हड़बड़ी के बजाय प्रत्येक प्रश्न के साथ उनके विकल्पों को भी अच्छे से पढ़ें. प्रश्नपत्र प्राप्त करने के बाद समझदारी और धैर्य से प्रश्न और उनके विकल्प देखें, आप पायेंगें कि कई प्रश्न बहुत आसान हैं.

पहले आसान प्रश्नों के जवाब दें, इसके बाद कठिन सवालों को हल करें. उन्हें हल करने में पर्याप्त समय लें और भ्रमित करनेवालों प्रश्नों को छोड़ दें. याद रखें गेस के आधार पर दिये गये जवाब आपकी मुश्किलें बढ़ा सकते हैं. Negative Marking आपके बहुत से अंकों को कम कर देती है.


Practice: Negative Marking se Kaise Bache?

चीजें हमेशा आपके अनुकूल हों, ऐसा जरुरी नहीं, खासतौर पर परीक्षा के दौरान. कई बार ऐसे प्रश्न सामने होते हैं, जिनसे बुद्धिमानी के साथ निपटने के तरीके के बारे में आपको पता होना चाहिए.

यह बुद्धिमानी आपको प्रश्नों को हल करने के अभ्यास से हासिल होगी. इसके लिए Mock Test Practice भी बहुत उपयोगी है. यह गलतियाँ करने की संभावनाओं को भी समाप्त करती है और Negative Marking से बचाती है.

Negative Marking se Kaise Bache Tips to Reduce

Time Management: Negative Marking se Kaise Bache?

कम स्कोर करने के दर से, बहुत से अभ्यर्थी परीक्षा के आखिरी मिनट में सवालों का जवाब देने का प्रयास करते हैं. इस वजह से कई बार सही जवाब पता होने पर भी बहुत से सवाल छूट जाते हैं.

इसके साथ ही समय कम होने के तनाव के चलते अभ्यर्थी कई बार गलत जवाब भी दे देते हैं. जबकि परीक्षा के अंतिम मिनट का हमेशा संशोधन के लिए उपयोग किया जाना चाहिए.

किसी भी परीक्षा में सफलता के लिहाज से और negative marking से बचने के लिए भी time management बहुत महत्वपूर्ण है. सेक्शन एक से ही सवालों को हल करना शुरू करें, यह आपको जल्दीबाजी के चलते होनेवाली गलतियों से भी बचाएगा.

Gain Knowledge, Gain Self-confidence

हमेशा हाई स्कोर हासिल करने के पीछे भागने के बजाय आत्मविश्वास से सवालों के जवाब देने का लक्ष्य रखना चाहिए. यह लक्ष्य परीक्षा में शामिल हर क्षेत्र का नॉलेज बढ़ने से ही पूरा हो सकता है. इससे बड़े पैमाने पर गलत उत्तर देने के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है.

यदि आप जवाब को लेकर पूरी तरह सुनिश्चित नहीं है, तो सभी प्रश्नों को हल करने की लालसा कभी न करें. बहुत कम लोग हैं, जो पूर्ण स्कोर प्राप्त करने में सफल होते हैं. क्योंकि प्रतियोगी परीक्षाओं, जहाँ रैंक की बड़ी भूमिका होती है, में एक अंत खोना भी एक बड़ा सौदा है.

याद रखें कि लाखों उम्मीदवार होंगे, जो जवाब देने पर भाग्य पर भरोसा करेंगे, लेकिन बुद्धिमान लोग अपने ज्ञान पर निर्भर होंगे.

Career in India: Tattoo Artist Kaise Bane?

Negative Marking se Kaise Bache

Conclusion: Negative Marking se Kaise Bache?

तो फ्रेंड्स, बस यही हैं कुछ जरुरी Tips to Reduce Negative Marking in Exams. मुझे आशा है कि आपको यह लेख अच्छा लगा होगा. और अब आपको यह भी पता चल गया होगा कि Negative Marking se Kaise Bache?

इस आर्टिकल में मैंने निम्नलिखित सभी topics के बारे में डिटेल्स से समझाने की कोशिश की है.

  • Tips to Reduce Negative Marking in Exams
  • Negative Marking se Kaise Bache?
  • What is Negative Marking in Hindi?
  • Negative Marking Meaning in Hindi
  • How to Deal with Negative Marking
  • Negative Marking Kaise Hoti Hai?
  • How to Reduce Negative Marking in Competitive Exams?

Negative Marking Kya Hoti Hai? इसके बारे में अगर अब भी आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और Educational Article in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमारे Email Newsletter में अपना Email ID प्रदान कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading…Keep Growing…


About the author

MN Hemant

MN Hemant

MN Hemant is the Founder of this awesome blog from Bokaro (Jharkhand). A Tech-Lover, Blogger and YouTuber, heartly passionate about Smartphones, Gadgets and Tech Reviews.

3 Comments

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.