Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai? Aavedan Kaise Kare?

2
46
Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai

मुख्यमंत्री लाडली लक्ष्मी योजना की पूरी जानकारी

Hi Friends! क्या आपको पता है कि Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai? पुरे देशभर में लड़कियों की घटती लिंगानुपात सरकार और समाज के लिए चिंता का विषय बना हुआ है. बेटियों के जन्म से पहले ही उन्हें गर्भ में मार दिया जाता है, जिसके कारण भी बालिकाओं की लिंगानुपात में कमी आयी है.

इसी ज्वलंत समस्या को देखते हुए सरकार ने Ladli Laxmi Yojana की शुरुआत की.इस योजना से लोगों में बालिकाओं के जन्म प्रति सकारात्मक सोच का विकास होगा. लड़कियों की शैक्षणिक स्तर का विकास किया जायेगा.

तो आज मैं आपसे इसी के बारे में बात करने जा रही हूँ  Mukhyamatri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai? Jharkhand Laxmi Ladli Yojana ka Aavedan Kaise Kare? अगर आप भी इस योजना की योग्यता और लाभ के बारे में जानना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai?

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम बात करेंगे कि Mukhyamanri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai? बालिकाओं के घटते लिंगानुपात को देखते हुए झारखण्ड सरकार ने लक्ष्मी लाडली योजना की शुरुआत की है. इस योजना का लक्ष्य है लड़कियों की जनसँख्या में वृद्धि करना, प्रारंभिक शिक्षा सुलभ कराना.

मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना में प्रत्येक निम्नवर्गीय परिवार में संस्थागत प्रसव से जन्मी पहली पुत्री को इस योजना का लाभ मिलेगा और अगर दूसरी पुत्री होती है, तो इस स्थिति में उनके माता- पिता को परिवार नियोजन अपनाना होगा. तभी दोनों बेटियों को लक्ष्मी लाडली योजना का लाभ मिलेगा.

Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana ki Shuruaat Kab Hui?

मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना की शुरुआत झारखण्ड में (15 नवम्बर 2011) को हुई थी. इस योजना की शुरुआत से बालिकाओं की जनसँख्या में पहले की अपेक्षा वृद्धि हुई है.

Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Ka Labh Kise Milega?

अब आपमें से काफी लोगों के मन में यह सवाल होगा कि Ladli Laxmi Yojana Ka Labh Kise Milega? तो मैं आपको बता दूँ कि इस योजना का लाभ प्रत्येक परिवार में संस्थागत प्रसव से उत्पन्न पहली पुत्री अथवा दूसरी पुत्री को माता- पिता के परिवार नियोजन अपनाने से दोनों प्रसवों से उत्पन्न पुत्री को लक्ष्मी लाडली योजना का लाभ मिलेगा.

इसे भी पढ़ें: Sukanya Samriddhi Yojana Kya Hai?

Ladli Laxmi Yojana ka Labh Kaise Milega?

अब हम बात करते हैं कि Ladli Laxmi Yojana Ka Labh Kitane Kist Me Milega?

  • लक्ष्मी लाडली योजना में पंजीकरण के बाद जन्म से लेकर लगातार 5 वर्षों तक प्रतिवर्ष 6000 रुपये की दर से कुल 30000 रुपये डाक जमा योजना के माध्यम से झारखण्ड सरकार द्वारा जमा किया जायेगा.
  • उसके बाद बालिका के कक्षा 6वीं में प्रवेश लेने पर 2,000 रुपये मिलेगा.
  • कक्षा 9वीं में प्रवेश लेने पर 4000 रुपये.
  • फिर कक्षा 11वीं में जाने के बाद 6000 रुपये का लाभ मिलेगा.
  • लक्ष्मी लाडली योजना का अंतिम लाभ 1 लाख (1,00000) रुपये की भुगतान बालिका की आयु 21वर्ष पुरे होने पर तथा कक्षा 12 वीं की परीक्षा में सम्मिलित होने पर मिलेगा.
  • लेकिन बालिका की शादी 18 वर्ष से पहले नहीं होनी चाहिए, तभी इसका लाभ मिलेगा.

Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana ka Aavedan Kaise Kare?

  • लक्ष्मी लाडली योजना का पंजीकरण के लिए अभियर्थी को अपने निकटतम आंगनबाड़ी केंद्र से संपर्क करना होगा.
  • आंगनबाड़ी केंद्र में आवेदन को जमा कर सकते हैं, आवेदन के साथ आवेदक का जन्म प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, BPL सूचि सम्बंधित प्रमाण पत्र संलग्न करना होगा.
  • अनाथ बालिका के मामले में अनाथालय के अधीक्षक द्वारा बालिका के अनाथालय में प्रवेश के एक वर्ष के अन्दर एवं बालिका की आयु 6 वर्ष होने के पूर्व तक के सम्बंधित जानकारी अधिकारी को आवेदन देना होगा.
  • द्वितीय प्रसव से उत्पन्न बालिका के मामले में माता-पिता द्वारा बंध्याकरण/नसबंदी करा लेने से सम्बंधित प्रमाण पत्र देना आवश्यक होगा.
  • आप अपने से इन सभी दस्तावेजों को संलगन करके साइबर कैफ़े में जाकर Online Form भर सकते हैं.

Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai

Ladli Laxmi Yojana ka Yogyata Kya Hai?

  • बालिका के माता- पिता झारखण्ड के मूल निवासी हों.
  • गरीबी रेखा के अंतर्गत हो अथवा उनकी वार्षिक आय 72,000 रुपये से अधिक न हो.
  • दो बालिकाओं के जन्म के बाद दम्पति ने परिवार नियोजन अपना लिया हो.
  • यदि माता-पिता दोनों की किसी कारण वश मृत्यु हो गई हो, तो उस स्थिति में मृत्यु प्रमाण पत्र आवश्यक होगा.
  • अगर अनाथ/गोद ली गई बालिका है, तो प्रथम बालिका मानी जायेगी.
  • यदि जुड़वाँ हो, तो भी मान्य होगा लेकिन जब माता या पिता के नसबंदी का प्रमाण पत्र आवेदन के साथ संलग्न हो.
  • अनाथ बालिका होने पर जन्म के 5 साल तक किया गया पंजीकरण मान्य होगा.
  • जन्म के एक वर्ष के अन्दर आवेदन देना अनिवार्य होगा, एक वर्ष से अधिक जन्म का तिथि मान्य नहीं हो पायेगा.
  • प्रसव संस्थागत हो तथा जन्म प्रमाण-पत्र सम्बंधित hospital तथा सक्षम पंचायत/ नगर निकाय द्वारा निर्गत हो.

Rules of Ladli Laxmi Yojana Kya Hai?

तो अब हम बात करते हैं कि Ladli Laxmi Yojana ka Niyam Kya Hai?

  • यदि बच्ची का पंजीकरण सही हुआ हो, परन्तु योजना के किसी भी नियम को पूरा नहीं कर पाती हो, यानि 5वीं, 8वीं, 10वीं, या 12 कक्षा के पूर्व विद्यालय परित्याग कर देती है, तो तत्काल प्रभाव से योजना का लाभ उन्हें नहीं दिया जा सकेगा.
  • अगर बालिका का विवाह 18 वर्ष से कम आयु में करा दिया गया हो, तो उसे यह लाभ नहीं दिया जायेगा.
  • यदि बालिका की असमय मृत्यु हो जाती है, तो लाभ का हक़दार उसका परिवार नहीं होगा.
  • ऐसी किसी भी स्थिति में समस्त राशि/ अवशेष राशि राजकोष में जमा कर दी जायेगी.

Conclusion: Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai?

तो फ्रेंड्स, बस यही है Jharkhand Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana के बारे में डिटेल लेख. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai? अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे-से समझ में आ गया होगा कि Ladli Laxmi Yojana ka Labh Kaise Milega?

Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana ka Aavedan Kaise Kare? इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो आप हमें नीचें comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और भी Government Scheme Blogs in Hindi पढ़ना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


Mukhyamantri Ladli Laxmi Yojana Kya Hai? Aavedan Kaise Kare?
4.8 (95%) 4 vote[s]

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here