General Knowledge

Makar Sankranti 14 January को ही क्यों रहता है? Makar Sankranti in Hindi

Makar Sankranti 14 January ko hi Kyo
Written by MN Hemant

Makar Sankranti 14 January ko hi Kyo?

Hi friends! आप सभी को तो पता ही है कि Makar Sankranti 14 January को है. और यह कोई नई बात नहीं है, लगभग हर साल Makar Sankranti 14 January को ही मनाया जाता है.

आपको यह भी पता होगा कि हमारे जितने भी पर्व व त्यौहार हैं, प्रत्येक वर्ष उनका date अलग होता है. लेकिन यह Makar Sanranti हमेशा 14 January को ही आता है?

तो आज मैं आपसे इसी विषय पर बात करने जा रहा हूँ कि Makar Sankranti 14 January ko Kyo Aata Hai? Why do we celebrate Makar Sankranti on 14 January? अगर आप भी इसके बारे में जानना चाहते हैं तो यह आर्टिकल Makar Sankranti in Hindi अंत तक जरुर पढ़ें.

Hindu Festival Makar Sankranti

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम यह जानते हैं कि हिन्दू धर्म में पर्व और त्यौहार हर साल अलग दिन में क्यों होते हैं? आपने गौर किया होगा कि लगभग सभी त्योहारों का date प्रत्येक वर्ष अलग होता है. जैसे अगर कोई पर्व पिछले साल 24 February को था, तो इस साल 10 February को ही होता है.

हिन्दू धर्म में पर्व व त्यौहार का निर्धारण चन्द्र पंचांग यानि चन्द्र की गति के अनुसार होता है. लेकिन Makar Sanranti हमेशा से अपवाद रहा है. इसका निर्धारण चन्द्र की गति के अनुसार नहीं होता है.

Makar Sankranti 14 January ko Kyo Aata Hai

Makar Sankranti 14 January ko Kyo?

मकर संक्रांति का निर्धारण सूर्य की गति के अनुसार होता है. इस कारण यह हर साल 14 January को ही मनाया जाता है. बस यही कारण है जिसके चलते Makar Sankranti 14 January ko Rahta Hai.

इसके बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप निचे दिए हुए YouTube Video को भी देख सकते हैं.



Makar Sankranti Kya Hai?

अब हम बात करते हैं कि आखिर Makar Sankranti Kya Hota Hai? इसके लिए पहले हम यह समझते हैं कि Sankranti Kya Hota Hai?

हिन्दू पंचांग के अनुसार जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है, तब संक्रांति होती है. अब आपमें से काफी लोगों का यह भी सवाल होगा कि इसका नाम Makar Sankranti क्यों है?

तो संक्रांति का नाम उस अनुसार होता है जिस राशि में सूर्य का प्रवेश हो रहा होता है. सूर्य का मकर राशि में प्रवेश होने के कारण इसे मकर संक्रांति कहा जाता है.

एक संक्रांति से दूसरी संक्रांति के बिच का समय सौर मास होता है. वैसे तो सूर्य संक्रांति 12 हैं, लेकिन इनमें से चार संक्रांति महत्वपूर्ण हैं: मेष, कर्क, तुला और मकर संक्रांति.

Importance of Makar Sankranti 14 January

यह तो आपको पता चल गया कि Makar Sankranti 14 January को ही क्यों आता है? अब बात करते हैं कि Makar Sankranti ka Kya Mahatva Hai?

Makar Sankranti 14 January ko Kyo Aata Hai

मकर संक्रांति के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण की तरफ जाता है और इसी समय खरमास का अंत होता है. खरमास को अशुभ काल माना जाता है, इसके आते ही शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाती है.

Makar Sankranti के दिन से सूर्य उत्तरी गोलार्द्ध में आना शुरू हो जाता है. इसी के बाद से ही मौसम में भी बदलाव होने लगता है.

मकर संक्रांति के समय जब सूर्य गोचर करता है, तो वो पृथ्वी के नजदीक आने लगता है. इसी के कारण दिन बड़ी और रातें छोटी होनी शुरू हो जाती है.



Makar Sankranti in Hindi

मकर संक्रांति को हुए सूर्य के राशि परिवर्तन को अन्धकार से प्रकाश की तरफ अग्रसर होना भी माना जाता है. इसके साथ ही यह भी मान्यता है कि प्रकाश लोगों के जीवन में खुशियाँ लाता है.

इस तरह से Makar Sankranti खुशियों का त्यौहार है. इस दिन से सभी शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाती है.

Different Names of Makar Sankranti

फ्रेंड्स, मैं आपको बताना चाहूँगा कि मकर संक्रांति का पर्व हर राज्य और शहर में अलग-अलग तरीके और नाम से मनाया जाता है. इसी दिन से अलग-अलग राज्यों में गंगा नदी के किनारे माघ मेला या गंगा स्नान का आयोजन किया जाता है. कुम्भ के पहले स्नान की शुरुआत भी इसी दिन से होती है.

Makar Sankranti 14 January Kumbh Mela

अपने देश के अलग-अलग राज्यों में मकर संक्रांति के त्यौहार को विभिन्न नामों से पहचाना जाता है. कर्नाटक में संक्रांति, तमिलनाडु और केरल में पोंगल, पंजाब में लोहड़ी, गुजरात और राजस्थान में उत्तरायण एवं उत्तराखंड में उत्तरायनी के नाम से मकर संक्रांति का यह त्यौहार मशहूर है.

Uttar Pradesh me Khichdi

मकर संक्रांति का त्यौहार उत्तर प्रदेश में बड़े धूमधाम के साथ मनाया जाता है. इस दिन घरों में खिचड़ी बनाकर खाना शुभ माना जाता है. इसके आलावा लोग इस दिन तिल के लड्डू, तिल की गजक और मूंगफली के स्वाद का भी लुत्फ उठाते नजर आते हैं. यहाँ भी गंगा स्नान के बाद गरीबों को दान देने की परंपरा है.

Tamil Nadu me Pongal

मकर संक्रांति 2019 का त्यौहार तमिलनाडु में पोंगल नाम से जाना जाता है. इस दिन लोग घर में साफ-सफाई करने के बाद आँगन में आते और चावल के आते से रंगोली बनाते हैं. इसके बाद मिटटी के बर्तन में खीर बनाई जाती है, जिसका भोग सबसे पहले सूर्य देव को लगाया जाता है. तमिलनाडु में यह त्यौहार चार दिनों तक मनाया जाता है.

Punjab me Lohdi

लोहड़ी को पहले तिलोड़ी कहा जाता था. यह शब्द तिल तथा रोड़ी (गुड की रोड़ी) शब्दों के मेल से बना है, जो समय के साथ बदल कर लोहड़ी के रूप में प्रसिद्ध हो गया. मकर संक्रांति के दिन भी तिल-गुड खाने और बांटने का महत्व है. पंजाब के कई इलाकों में इसे लोही या लोई भी कहा जाता है. इस दिन तिल खाने का विशेष रिवाज है.

Maharashtra me Puran Poli

महाराष्ट्र में मकर संक्रांति का त्यौहार तीन दिन तक मनाया जाता है. इस दौरान महाराष्ट्र की पारंपरिक पूरण पोली खायी जाती है. साथ ही तिल से बने व्यंजनों को लोगों के बिच बाँट पुराणी कड़वाहट को भुलाने की भी पहल की जाती है.

West Bengal me Ganga Sagar Fair

पश्चिम बंगाल में इस पर्व पर गंगासागर पर बहुत बड़े मेले का आयोजन होता है. यहाँ इस पर्व के दिन स्नान करने के बाद तिल दान करने की प्रथा है. हर साल मकर संक्रांति के दिन गंगा सागर में भरी भीड़ होती है.

Gujarat me Kite Festival

मकर संक्रांति पर राजस्थान और गुजरात में पतंग उड़ाने की परंपरा है. इसकी वजह से गुजरात में पतंग महोत्सव को भी बड़े उल्लास के साथ मनाया जाता है. पतंग उड़ाने के अलावा इस दिन घरों में सूर्य पूजा करने के लिए घेवर, फैनी, तिल के लड्डू भी बनाए जाते हैं. इस खास दिन यहाँ के लोग जरूरतमंद को दान करना भी शुभ मानते हैं.

Conclusion: Makar Sankranti 14 January 2019

तो फ्रेंड्स, बस यही है Hindu Festival Makar Sankranti Full Information in Hindi. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Makar Sankranti Meaning in Hindi अच्छा लगा होगा. और अब आपको यह अच्छी तरह से पता चल गया होगा कि Makar Sankranti 14 January ko Kyo Manaya Jata Hai?

Makar Sankranti से सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और Informative Blogs in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमारे Email Newsletter में अपना Email ID दे सकते हैं. इससे आनेवाली सभी आर्टिकल्स की जानकारी आपको ईमेल पर ही मिल जाएगी.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


Makar Sankranti 14 January को ही क्यों रहता है? Makar Sankranti in Hindi
5 (100%) 6 votes

About the author

MN Hemant

MN Hemant is a Hindi Tech YouTuber and Blogger from Bokaro, Ranchi, Jharkhand of India. He is a Tech-Lover, heartly passionate about Smartphones, Gadgets and Future Technology.

2 Comments

Leave a Comment