Iodine ki Kami se Kya Hota Hai? शरीर को कितनी मात्रा में आयोडीन चाहिए?

0
93
Iodine ki Kami se Kya Hota hai

आयोडीन की कमी से कौन-सा रोग होता है?

Hi Friends! क्या आपको पता है कि Iodine ki Kami se Kya Hota Hai? आयोडीन की कमी एक विश्वव्यापी समस्या है. इसकी वजह से लोगों को thyroid की समस्या से जूझना पड़ता है.

जब शरीर को पर्याप्त मात्रा में आयोडीन नहीं मिलता है, तो thyroid gland का आकार बढ़ जाता है, क्योंकि थाइरोइड ग्लैंड शरीर के लिए अनिवार्य hormones बनाने में असफल रहती है.

इसकी वजह से घेंघा रोग हो जाता है. इसके अलावा आयोडीन की कमी से कई और भी बीमारियाँ हो सकती हैं.

तो आज मैं आपसे इसी विषय के बारे में बात करने जा रही हूँ कि Iodine ki Kami se Kya Hota Hai? अगर आप भी इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

What is Iodine?

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम बात करेंगे कि Iodine Kya Hai? आयोडीन एक ऐसा तत्व है, जिसका संतुलित मात्रा हमारे भोजन में होना बहुत जरुरी है. जन्म के बाद हमारे शारीरिक व मानसिक विकास में इस खनिज (mineral) का महत्वपूर्ण भूमिका होता है.

इसकी कमी से कई प्रकार की स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएँ हो सकती हैं. इसलिए गर्भावस्था के दौरान ही बच्चे के विकास के लिए आयोडीन का पर्याप्त सेवन बहुत जरुरी होता है.

Iodine ke Phayde Kya Hai?

अब हम बात करेंगे कि Iodine ke Phayda Kya Hai? आयोडीन का सेवन उचित मात्रा में करने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है.

  • आयोडीन हमारे शरीर का metabolic rate कण्ट्रोल करता है.
  • यह blood circulation और heart rate को नियमित रखता है तथा मस्तिष्क के विकास में सहायक होता है.
  • शरीर की सकारात्मक उर्जा को नियंत्रित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है तथा बिना fat जमा किए calories के सही प्रयोग में सहायता है.
  • आयोडीन से स्वस्थ दांत एवं बाल तथा चमकती त्वचा की बनावट होती हैं.
  • यह immune system को भी strong बनाता है, ताकि हमारा शरीर बीमारियों से लड़ने के लिए तैयार रहे.


Iodine ki Kami se Kya Hota Hai?

Nutritionist and dietician का कहना है कि आयोडीन की कमी से होनेवाले रोगों में शरीर में thyroid hormones की कमी होना है.

  • इसके आम लक्षण – त्वचा का सूखापन, नाखूनों और बालों का टुटना, कब्ज और भारी कर्कश आवाज आदि हैं.
  • आयोडीन की कमी से वजन बढ़ने लगता है, ब्लड में cholesterol का स्तर बढ़ जाता है और सर्दी बहुत अधिक लगती है.
  • इसकी कमी से दिमाग बहुत धीमी गति से काम करता है और इससे दिमागी विकार भी हो सकते हैं.
  • चेहरा फूल जाये या गले में सूजन (गले के अगले हिस्से में Thyroid glad में सूजन) आ जाए तो यह आयोडीन की कमी के लक्षण होते हैं. क्योंकि तब thyroid hormones का बनना सामान्य से कम हो जाता है. इससे मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में बाधा आ जाती है.
  • गर्भवती महिलाओं में आयोडीन की कमी से गर्भपात, नवजात शिशुओं का वजन कम होना, शिशु का मृत पैदा होना आदि लक्षण होते हैं.

Iodine ki Kami se Kya Hota hai

Iodine ki Kami ke Lakshan Kya Hai?

  • हमेशा थकान महसूस हो या जब दूसरों को गर्मी लग रही हो, उस वक्त आपको ठण्ड महसूस हो.
  • काम में एकाग्रता की कमी होना या चीजों को लागातार भूलना.
  • अचानक वजन का बढ़ना, चेहरे पर सुजन आ जाना.
  • बालों का तेजी से झडना.
  • कब्ज की शिकायत होना.
  • त्वचा का शुष्क हो जाना.
  • Thyroid gland के बढ़ने से ठुड्डी और गर्दन के हिस्से का फैल जाना.

शरीर को कितना आयोडीन चाहिए?

एक व्यक्ति को जीवनभर में एक छोटे चम्मच से भी कम आयोडीन की आवश्यकता पड़ती है. चूँकि आयोडीन शरीर में जमा नहीं रह सकता, इसलिए इसे दैनिक आधार पर लेना पड़ता है.

रिसर्च से पता चला है कि महिलाओं को गर्भावस्था एवं स्तनपान के दौरान अपने आहार में आयोडीन शामिल करने का सबसे बेहतर तरीका आयोडीनयुक्त नमक का प्रयोग है.

एक औसत भारतीय प्रतिदिन लगभग 10 से 15 ग्राम नमक का सेवन करता है. अपने दैनिक भोजन में आयोडीन युक्त नमक का इस्तेमाल करने से आपकी आयोडीन की दैनिक मात्रा पूरी हो जाती है.



Iodine ka Sevan Kitana Karna Chahiye?

  • गर्भवती महिलाओं को 200-220 माइक्रोग्राम प्रतिदिन आयोडीन लेना आवश्यक है.
  • स्तनपान करानेवाली महिलाओं को 250-290 माइक्रोग्राम प्रतिदिन आयोडीन लेना चाहिए.
  • एक वर्ष से छोटे शिशुओं को 50-90 माइक्रोग्राम प्रतिदिन आवश्यक है.
  • 1-11 वर्ष के बच्चों को 90-120 माइक्रोग्राम आयोडीन लेना चाहिए.
  • वयस्कों तथा किशोरों को 150 माइक्रोग्राम आयोडीन लेना जरुरी है.

Iodine-rich Foods in Hindi

Iodine ki Kami se Kya Hota Hai? ये जानने के बाद आपके मन में सवाल होगा कि हमें किस तरह का भोजन करना चाहिए, जिससे Iodine प्राप्त हों.

  • भुने आलू- भुने हुए आलू में लगभग 40 प्रतिशत आयोडीन पाया जाता है.
  • दूध- एक कप दूध में लगभग 56 माइक्रो ग्राम आयोडीन पाया जाता है, साथ ही इसमें calcium और vitamin-D भी मिलता है.
  • मुनक्का- रोज तीन मुन्नके खाने से 34 माइक्रोग्राम आयोडीन आपके शरीर में जाता है.
  • दही- दही में लगभग 80 माइक्रोग्राम आयोडीन होता है, जो दिनभर की कमी को पूरा करता है.
  • सी-फ़ूड- सी-फ़ूड आयोडीन का बहुत अच्छा स्रोत होता है, इसलिए भोजन में इसे शामिल करें. इसके साथ ही इसमें मौजूद प्रोटीन से मस्तिष्क की नयी कोशिकाओं का निर्माण होता है.

Conclusion: Iodine ki Kami se Kya Hota Hai?

तो फ्रेंड्स, बस यही है कुछ Iodine ki Kami ke Lakshan. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Iodine ki Kami se Kya Hota Hai? अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से समझ में आ भी गया होगा कि Iodine ki Kami se Kon sa Rog Hota Hai?

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का सवाल हो, तो निचे comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और भी Health Blogs in Hindi पढ़ना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए बस इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here