स्मार्टफ़ोन और कम्प्यूटर के अत्यधिक इस्तेमाल के नुक़सान (Disadvantages of Excess Use of Gadgets)

Hi Friends! क्या आप जानते हैं कि आप अपने दैनिक जीवन में जो भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट इस्तेमाल करते हैं, उन Gadgets ke Nuksan भी हैं। आधुनिक टेक्नोलॉजी के युग में अधिकतर लोगों का दिनचर्या गैजेट के साथ बीतता है. मोबाइल अलार्म से शुरू होकर Video Chat, Movie, Laptop आदि गैजेट्स के साथ दिनभर व्यस्त रहते हैं.

हम सभी के जीवन में गैजेट की बहुत ज्यादा उपयोगिता है उसे हम अपने से दूर नहीं कर सकते हैं. आप सभी दिनभर Whatsapp, Facebook, Twitter & Instagram जैसे सोशल मीडिया साइट्स पर व्यस्त रहना पसंद करते होंगे.

आज हमारे जीवन में गैजेट का महत्वपूर्ण स्थान बन गया है. शोपिंग से लेकर बस भाड़े का बिल देने जैसे कई काम स्मार्टफ़ोन के एप्स की मदद से कर रहे हैं.

गैजेट्स ने हमारे काम को आसन बना दिया है, जिससे कारण जरुरत से ज्यादा इनका प्रयोग करते हैं. हमारे जीवनशैली को सरल बनाने वाले इन Gadgets का अधिक उपयोग हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक हो रहा है.

तो आज मैं आप सभी से Gadget ke Nuksan के बारे में बात करने जा रही हूँ. अगर आप भी Mobile Phone & Laptop ke Nuksan को जानना चाहते हैं, तो आप यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

Gadgets Meaning in Hindi

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम बात करेंगे कि Gadgets Kya Hai? सभी इलेक्ट्रॉनिक वस्तु गैजेट्स कहलाता है जैसे, मोबाइल फ़ोन, लैपटॉप, कंप्यूटर, टीवी, रेडिओ, स्पीकर, ईरफ़ोन आदि इलेक्ट्रिक सामग्री जो हमारे आस-पास रहता है.

स्मार्ट फ़ोन का प्रभाव: नींद न आने की समस्या

मोबाइल फ़ोन पर उंगलियाँ घुमाते रहना आम बात होते जा रहा है, आजकल छोटे-छोटे बच्चे फ़ोन पर गेम खेलने में लगे रहते हैं.   लेकिन इसके अत्यधिक इस्तेमाल से अनिंद्रा की शिकायत भी हो सकती है.

इससे एकाग्रता और सोचने की क्षमता पर भी असर पड़ता है. कुछ समय के बाद यह आदत आपके लिए काफी हानिकारक हो सकता है, High blood pressure , मधुमेह और मोटापे की बीमारी के शिकार बन सकते हैं.

लैपटॉप का नुकसान: गर्दन में दर्द

अकसर लैपटॉप या कंप्यूटर पर काम करने वाले युवाओं को गर्दन में दर्द की समस्या होती है. क्योंकि  लैपटॉप में स्क्रीन की कीबोर्ड काफी नजदीक होती है, जिससे कारण गर्दन में खिंचाव पैदा होता है और गर्दन में दर्द होता है.

इसके अलावा उँगलियों में दर्द,  आँखों में दर्द, आँखों का लाल होना  एवं धुंधला दिखाई देने जैसी समस्याएँ भी हो सकती हैं.

Mobile Phone aur Laptop ke Nuksan

गैजेट्स का ज्यादा उपयोग करने से उम्र घट सकती है. एक शोध से यह ज्ञात हुआ है कि 25 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों में हर एक घंटे टीवी देखने से उनका जीवनकाल 22 सेकंड कम हो जाता है.

Gadgets ke Nuksan

इससे यह ज्ञात हुआ है कि हर भारतीय एक सप्ताह में औसतन 15-20 घंटे टीवी देखते है. रोज दो घंटे टीवी देखने से type-2 Diabetes और दिल की बिमारियों का खतरा बढ़ सकता है.

Gadgets ke Jyada Upyog ke Nuksan

Earphone या हैडफ़ोन पर गाना सुनते हुए रास्ते में चलना या काम करना आप सभी को अच्छा लगता होगा, लेकिन यह आदत आपको बहरा बना सकती है.

हमारी सामान्य बातचीत लगभग 60 डेसिबल की होती है और Headphone से निकालने वाली ध्वनी तरंगे अक्सर 100 डेसिबल तक पहुँच जाती हैं, जिस कारण आप ईरफ़ोन के अधिक इस्तेमाल से बहरेपन का शिकार हो सकते हैं.

गैजेट्स के क्या नुकसान है?

जो लोग कंप्यूटर व गैजेट के प्रयोग में अत्यधिक समय बिताते हैं उनकी पढ़ने की क्षमता पर गैजेट्स का काफी बुरा प्रभाव पड़ता है. धीरे-धीरे उनका मन पढाई में कम और लैपटॉप और फ़ोन में ज्यादा लगने लगता है.



Gadgets se Hone Vali Problems

कुछ गैजेट्स के नुकसान और भी हैं जो आप सभी को नहीं पता होगा, जो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है.

  • अधिक समय तक लगातार लैपटॉप का उपयोग करने से तंत्रिकाएँ क्षतिग्रस्त भी हो सकती हैं.
  • लैपटॉप को गोद पर रखकर काम करने से पैरों की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचता है.
  • Wireless उपकरणों से निकलने वाली Electro magnetic किरणें कैंसर का कारण बन सकती हैं और मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाती हैं.
  • गैजेट्स के अत्यधिक इस्तेमाल करने से लोगों में चिडचिडापन पैदा हो सकती है.

Gadgets se Hone Vale Nuksan se Kaise Bache?

आप सभी अब मोबाइल फ़ोन के नुकसान जान गए होंगे और हो सकता है आपके मन में सवाल होगा कि Gadgets ke Nuksan se Bachne ke Upay Kya Hai?

  • दिन में आधे से अधिक समय तक लैपटॉप या फ़ोन पर काम करने वाले लोगों को पेड़-पौधों, सुबह की धुप और ताज़ी हवा में कुछ समय तक रखना चाहिए.
  • खाली समय में फ़ोन में व्यस्त रहने की बजाय अपनी लक्ष्य को पूरा करने की तैयारी करे.
  • बच्चों को video game खेलने की बजाय उन्हें फूटबाल, क्रिकेट, जैसे खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित करे.
  • मोबाइल फ़ोन चार्ज करते समय बात न करने का प्रयास करें, चार्ज के समय बात करना बहुत ही हानिकारक होता है.
  • बिना काम के Video Chat, Whatsapp में समय न बिताएं.

Conclusion: Gadgets ke Nuksan in Hindi

तो फ्रेंड्स, बस यही है Mobile & Laptop ke Nuksan. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से भी पता चल गया होगा कि Gadgets ke Nuksan Kya Hai?

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और भी Technology Blogs in Hindi पढ़ना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


Leave a Comment