Technology

E-payment Kya Hai? Online Payment इलेक्ट्रोनिक पेमेंट के प्रकार

E-payment Kya Hai
MN Hemant
Written by MN Hemant

ऑनलाइन पेमेंट: E-payment Kya Hai?

Hi friends! क्या आपको पता है कि E-payment Kya Hai? आज के डिजिटल समय में cashless online payments का प्रचलन काफी बढ़ रहा है. लगभग सभी offline payments में अब e-payments का प्रयोग किया जा रहा है.

तो आज मैं आपसे इसी विषय पर बात करने जा रहा हूँ कि E-payment Kya Hai? Online Payment यानि इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट के प्रकार कौन-कौन हैं? अगर आप भी Types of Electronic Payments in Hindi के बारे में जानना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल E-payment Kaise Kare? अंत तक जरुर पढ़ें.

Online E-payment Kya Hai?

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम यह जानते हैं कि आखिर ये E-payment Kya Hai? तो ई-पेमेंट का मतलब होता है इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट. जो भुगतान या पेमेंट electronic device के माध्यम से online यानि इन्टरनेट के द्वारा किया जाता हो, वही e-payment है.

Types of E-payments in Hindi

अब आपको पता चल ही गया होगा कि E-payment Kya Hai? मैं आपको एक और बात बता दूँ कि e-payment कोई एक सिमित पेमेंट सिस्टम नहीं है. मार्केट में आपको अलग-अलग तरह के digital online payment methods देखने को मिल जाएँगे, जिससे आप बहुत ही आसानी से e-payments कर सकते हैं.

Online E-payment Kya Hai

आपमें से लगभग सभी के पास Bank ATM Card जरुर होगा. अगर आप अपने ATM Card या Debit Card का इस्तेमाल ATM Machine से पैसे निकालने के अलावा जहाँ भी करते हैं, वो electronic payment के अंतर्गत ही आता है. इस तरह ई-पेमेंट्स में और कई तरह के payment methods उपलब्ध हैं. तो अब हम Different Types of E-payments in India के बारे में विस्तार से जानेंगे.

BHIM E-payment Kya Hai?

Bharat Interface for Money (BHIM) के बारे में आपमें से सभी लोगों ने कहीं-न-कहीं सुना ही होगा. भारत में नोटबंदी (demonetization) के बाद से इसका प्रयोग काफी बढ़ गया है.  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1 जनवरी, 2017 को नए digital payment application ‘BHIM’ की शुरुआत की है, जो ‘Unified Payments Interface’ (UPI) से जुड़ा है. इसे बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर की स्मृति में जारी किया गया है.

‘BHIM’ वस्तुतः ‘Aadhaar’ आधारित भुगतान की प्रक्रिया है, जहाँ fingerprint की सहायता से हस्तांतरण की सुविधा दी गई है. एक जरुरी बात मैं आपको बता दूँ कि ‘BHIM – Bharat Interface for Money’ कोई mobile wallet नहीं है. यह ग्राहक के बैंक खातों से सीधे जुड़ा होता है. इससे पेमेंट करने से पैसे आपके bank account से ही कट जाते हैं.



UPI E-payment Kya Hai?

UPI यानि Unified Payments Interface एक नया application है, जिसकी शुरुआत भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा की गई है. इसमें स्मार्टफ़ोन तथा इन्टरनेट कनेक्शन की जरुरत होती है.

UPI E-payment Kya Hai

BHIM Application Download करने के बाद बैंक अकाउंट से सीधे जुडकर लेनदेन की प्रक्रिया को आसानी से आगे बढाया जा सकता है. 28 सार्वजानिक क्षेत्र तथा निजी बैंकों में UPI की सुविधा उपलब्ध है. इससे आप बहुत ही आसानी से अपना भुगतान ऑनलाइन कर सकते हैं.

VPA E-payment Kya Hai?

अभी मैंने आपको बताया कि Unified Payments Interface यानि UPI क्या है? तो UPI को संचालित करने के लिए VPA यानि Virtual Payment Address को अनिवार्य बनाया गया है. UPI की सेवा जिन 28 बैंकों द्वारा आरम्भ की गई है, उसका संचालन बिना किसी खाता संख्या के एक VPA द्वारा किया जाएगा.

यह VPA बैंक से सम्बंधित UPI Application पर उपलब्ध होता है. यह आपके नाम अथवा आपके द्वारा दी गए नाम से जुड़ा एड्रेस generate करता है.

AEPS E-payment Kya Hai?

देश में वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए Aadhaar-enabled Payment System (AEPS) की शुरुआत की गई है. यह बैंक की नई पद्धति है, जिसमें micro-ATM की सहायता से बैंकिंग प्रक्रियाओं को संचालित किया जाता है.

इसमें आधार प्रमाणीकरण (aadhaar authentication) के माध्यम से वाणिज्यिक गतिविधियों को प्रभावी बनाया जाता है. ‘आधार’ आधारित प्रक्रिया द्वारा चार प्रकार की बैंकिंग गतिविधियों को संचालित करने की स्वीकृति दी गई है. ये हैं: Balance Enquiry, Cash Withdrawal, Cash Deposit तथा Aadhaar to Aadhaar Fund Transfer.

Mobile Wallet E-payment Kya Hai?

ई-वॉलेट या मोबाइल बटुआ वर्तमान में अत्यधिक प्रचलित है. इसकी सहायता से डाउनलोड किए गए एप्लीकेशन के खाते में कुछ रूपए रख कर लेनदेन किया जा सकता है.

सार्वजानिक क्षेत्रों के बैंकों द्वारा अपने ई-वॉलेट सक्रीय हैं, जिनमें अधिकांश निजी क्षेत्र के हैं. इनमें प्रमुख हैं Paytm, Paypal, Mobikwik, etc.



EFT E-payment Kya Hai?

EFT यानि Electronic Funds Transfer का अनुप्रयोग एक बैंक से दुसरे बैंक में धन हस्तांतरण (money transfer) के लिए किया जाता है. इसमें internet banking तथा mobile banking का प्रयोग किया जाता है. यह हस्तांतरण का सुरक्षित तथा सरल तरीका है. इस प्रक्रिया में धन का शीघ्र हस्तांतरण किया जा सकता है.

NEFT E-payment Kya Hai?

NEFT यानि National Electronic Funds Transfer एक राष्ट्रिय स्तर पर धन हस्तांतरण का माध्यम है. इसकी सहायता से अपने खाते से धन उसी बैंक के अन्य खातों अथवा किसी अन्य बैंक खाते में भेजा जा सकता है.

इस प्रक्रिया में धन-सीमा 10 लाख रूपए को चिन्हित किया गया है. सभी बैंकों में NEFT की सुविधा उपलब्ध है. यह प्रक्रिया बैंकों द्वारा किसी भी समय की जा सकती है; इस कारण NEFT काफी लोकप्रिय है.

E-payment Kya Hai Online Payments

RTGS E-payment Kya Hai?

इसका नाम आपने कहीं-न-कहीं सुना ही होगा. RTGS यानि Real-time Grass Settlement एक ऐसी धन हस्तांतरण (money transfer) की प्रक्रिया है, जिसमें किसी प्रकार की प्रतीक्षा सूचि नहीं होती है. RTGS का संचालन सीधे RBI द्वारा बैंकों को इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों की सहायता से किया जाता है.

इस RTGS Payment System के माध्यम से money transfer करने से धन शीघ्र खाते में भेज दिया जाता है. इसकी सहायता से अधिक धनराशि का हस्तांतरण होता है, जो 2 लाख रुपये या उससे अधिक निर्धारित है.

IMPS E-payment Kya Hai?

बैंकों द्वारा धन का हस्तांतरण अधिकांशतः NEFT & RTGS की सहायता से किया जाता है, किन्तु इन सभी माध्यमों की सहायता से किया गया हस्तांतरण National Payments Corporation of India (NPCI) की सेवा IMPS द्वारा (24×7) उपलब्ध होती है.

इसमें बैंकों से जुडे मोबाइल फ़ोन नंबर का उपयोग किया जाता है. IMPS यानि Immediate Payment Service एक सुरक्षित gatway है, इससे शीघ्र तथा सुरक्षित रूप से धन का हस्तांतरण किया जाता है.



Micro-ATM Transaction Kaise Kare?

माइक्रो-एटीएम बैंकिंग व्यवस्था का विस्तृत नेटवर्क है. इसका संचालन बैंकों द्वारा किया जाता है. इसे बैंकों के एजेंट ऑपरेट करते हैं. यह touch-आधारित बैंकिंग इंटरफ़ेस है, जो ATM Card Number, Aadhaar Number अथवा bank account number से संचालित किया जा सकता है.

माइक्रो-एटीएम द्वारा जिन बैंकिंग गतिविधियों को संचालित किया जा सकता है, वे निम्नलिखित हैं.

  • Paperless Bank Account
  • Cash Withdrawal & Deposit
  • सरकारी सेवाओं के लिए भुगतान
  • Fund Transfer
  • अन्य सेवाओं (रिचार्ज इत्यादि) के लिए भुगतान करना.

E-Cheque Payment Kya Hai?

ई-चेक अर्थात electronic cheque पेपर चेक का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण है, जिसका उपयोग ऑनलाइन भुगतान के लिए किया जाता है. ई-चेक के माध्यम से money transfer तीन से चार दिनों में होता है; जैसे- परम्परागत चेक, किन्तु यह अधिक सरल प्रक्रिया है, जिसमें किसी प्रकार की धोखाधड़ी नहीं रहती है.

Internet Banking E-payment Kya Hai?

E-banking, बैंकिंग सेवाओं का सरल तथा सुरक्षित स्वरूप है. इसका संचालन व्यक्ति अपने घर अथवा कार्यालय से सरलतापूर्वक कर सकता है. यह एक प्रभावी तथा अतुल्य बैंकिंग सेवा है.

Internet banking E-payment Kya Hai

इसमें बैंकों की वेबसाइट पर जाकर User ID & Password की सहायता की जा सकती है. इन्टरनेट बैंकिंग से जिन सेवाओं का संचालन किया जा सकता है, वे निम्न प्रकार के हैं.

  • Bank Account Statement Check
  • Money Transfer
  • Fixed Deposit
  • Utility Bill Payments
  • Prepaid Recharge
  • Tax & Insurance Services Payment
  • Many other payments.

SMS Banking/M-banking Kya Hai?

मोबाइल बैंकिंग (m-banking) की प्रक्रिया में IMPS की सहायता से धन हस्तांतरित (money transfer) किया जा सकता है. इसमें सभी ग्राहक शामिल हो सकते हैं और SMS के जरिए अलग-अलग बैंकिंग गतिविधियों को अपने मोबाइल से ही कर सकते हैं.

M-banking में अपने मोबाइल नंबर को अपनी बैंक शाखा में पंजीकृत कर IMPS सेवा को सक्रीय करना होता है. इसके बाद ग्राहक को सात अंकों का IMID Number की सहायता से ही m-banking को संचालित किया जाता है.



Debit/Rupay Card se Payment Kaise Kare?

फण्ड ट्रान्सफर के लिए ‘डेबिट कार्ड’ अथवा ‘रुपे कार्ड’ की सुविधा बैंकों द्वारा दी जाती है. इसे प्लास्टिक कार्ड भी कहा जाता है. इलेक्ट्रॉनिक ट्रान्सफर तथा ATM से धनराशि निकालने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है. डेबिट कार्ड की सहायता से सभी बैंकिंग गतिविधियों का संचालन संभव है.

E-payment Kya Hai Cards Payment

Credit Card se Payment Kaise Kare?

क्रेडिट कार्ड का सम्बन्ध cashless खरीदारी से है. बैंकों द्वारा अबाधित तथा cashless shopping के लिए ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड जारी किए जाते हैं.

धनराशि की सीमा के आधार पर इनका वर्गीकरण किया जाता है. क्रेडिट कार्ड पर खरीदारी के लिए बैंकों द्वारा दी गई राशि पर ब्याज दर के साथ धन की वापसी सुनिश्चित की जाती है.

Paytm Kya Hai?

आपमें से सभी लोग Paytm का इस्तेमाल तो करते ही होगे. Paytm एक निजी ई-वॉलेट है, जो नोटबंदी के बाद तेजी से प्रयुक्त होने वाले ‘Mobile Transaction’ के रूप में प्रयुक्त हुआ है. Paytm की शुरुआत वर्ष 2010 में हुई. एक अनुमान के अनुसार भारत में 15 करोड़ लोग online & retail purchase के लिए Paytm का प्रयोग कर रहे हैं.

इसमें उपभोगता अपनी बैंक शाखा में कुछ राशि संरक्षित रखता है. खुदरा खरीदारी के दौरान ‘मोबाइल नंबर’ द्वारा पेमेंट Paytm के माध्यम से किया जाता है. प्रयोग की सरलता के कारण ‘Paytm’ अन्य ई-वॉलेट के मुकाबले अधिक लोकप्रिय हुआ है.

अभी हाल ही में Paytm & ICICI Bank ने मिलकर Paytm Postpaid की शुरुआत की है, जो एक तरह का digital credit service है. अगर आपके Paytm Wallet में balance नहीं है, फिर भी आप paytm से किसी भी तरह का payment कर सकते हैं.

Conclusion: E-payment Kya Hai in Hindi

तो फ्रेंड्स! बस यही हैं Different Types of E-payments in Hindi. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Electronic Payment in Hindi अच्छा लगा होगा. और अब तक आपको यह भी अच्छी तरह से पता चल गया होगा कि E-payment Kya Hai? Online Payments Kaise Kare?

Electronic Payments के बारे में अगर आपके मन में कोई भी सवाल हो, तो निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और Informative Articles in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमारे Email Newsletter में अपना Email ID दे सकते हैं. इससे आनेवाली सभी आर्टिकल्स की जानकारी आपको ईमेल पर ही मिल जाएगी.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


E-payment Kya Hai? Online Payment इलेक्ट्रोनिक पेमेंट के प्रकार
3.4 (68%) 5 votes

About the author

MN Hemant

MN Hemant

MN Hemant is a Hindi Tech YouTuber and Blogger from Bokaro, Ranchi, Jharkhand of India. He is a Tech-Lover, heartly passionate about Smartphones, Gadgets and Future Technology.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.