Make Money

Debt Fund Kya Hai? Fixed Income Investment with High Return in Hindi

Debt Fund Kya Hai
Written by MN Hemant

Debt Fund Kya Hai? Mutual Fund Alternative Investment

Hi friends! क्या आपको पता है कि Debt Fund Kya Hai? निवेश के विभिन्न विकल्पों में Mutual Fund काफी लोकप्रिय बनता जा रहा है, जिसमें SIP के माध्यम से छोटे व मध्यम आय वर्ग के लोग भी आसानी से निवेश कर सकते हैं.

Mutual Fund में जोखिम लेने की क्षमता के अनुसार fund का चयन किया जा सकता है. जो निवेशक जोखिम नहीं लेना चाहते और share या equity में invest नहीं करना चाहते, उनके लिए सबसे बढ़िया विकल्प Debt Fund है.

इसमें equity fund की तुलना में अधिक return की सम्भावना तो नहीं रहती, लेकिन एक बेहतर return अवश्य प्राप्त होता है. इसके अलावा इसमें जोखिम की आशंका नहीं के बराबर होती है.

तो आज मैं आपसे इसी विषय पर बात करने जा रहा हूँ कि Debt Fund Kya Hai? इस Debt Fund me Invest Kaise Kare? अगर आप भी Debt Fund Full Information in Hindi के बारे में जानना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल Debt Fund me Nivesh Kaise Kare? अंत तक जरुर पढ़ें.

Debt Fund Kya Hai?

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम यह जानते हैं कि आखिर Debt Fund Kya Hai? What is Debt Fund in Hindi? तो आपमें से लगभग सभी लोग mutual fund के बारे में जानते ही होगे, यह भी उसी के जैसा निवेश करने का एक आसान तरीका है.

“Debt Fund, Mutual Fund Jaisa hi Fixed Income Investment Hai.”

Debt Fund Kya Hai

Equity Mutual Funds, public listed companies में निवेश करते हैं, वहीं Debt Funds सरकारी और कंपनियों की fixed-income securities में निवेश करते हैं.

इनमें Corporate Bond, सरकारी सिक्योरिटीज, treasury bill, Money Market Instruments और अन्य प्रकार की debt securities शामिल हैं.

Mutual Fund vs Debt Fund in Hindi

अब आपको समझ में आ गया होगा कि Debt Fund Kya Hai? आपमें से काफी लोगों के मन में अब एक सवाल होगा कि Mutual Fund aur Debt Fund me Kya Antar Hai? What is the difference between Mutual Fund and Debt Fund?

मैं आपको बता दूँ कि Mutual Fund या किसी कंपनी की equity में निवेश करना, उस कंपनी की हिस्सेदारी को खरीदना होता है.

वहीं जब आप debt fund में निवेश करते हैं तो, आप fund जारी करने वाली संस्था को लोन देते हैं. सरकार और प्राइवेट कंपनियां लोन पाने के लिए बिल और बोंड जारी करती हैं.



Debt Fund is Fixed Income Security

Debt fund में निवेश की गई राशि की परिपक्वता (maturity) अवधि और मिलनेवाला ब्याज पूर्व निर्धारित होता है. इसलिए इन्हें ‘fixed income’ security कहा जाता है, क्योंकि इसमें आपको पता होता है कि आपको क्या मिलने वाला है?

Equity Fund की तरह ही debt fund में भी अलग-अलग securities में निवेश करके अच्छा लाभ प्राप्त किया जा सकता है. परम्परागत या छोटे निवेशकों के लिए यह एक सुरक्षित निवेश विकल्प के रूप में जाना जाता है.

Investment Plan Debt Fund Kya Hai?

Debt Funds अलग-अलग credit ratings के विभिन्न securities में निवेश करते हैं. Securities जारी करने वाली संस्था का अधिक रेटिंग का होना यह बताता है कि maturity पर ब्याज और मूल राशि का भुगतान किए जाने की बेहतर सम्भावना है.

इसलिए जो debt funds अधिक क्रेडिट रेटिंग वाले securities में निवेश करते हैं, वे दुसरे securities की तुलना में कम अस्थिर होते हैं.

इसके आलावा दूसरा पहलू परिपक्वता (maturity) की अवधि है, जो जितना कम होगा, नुकसान की सम्भावना भी उतनी ही कम होगी.

Debt Fund Kya Hai

Reasons to Invest in Debt Fund

अब हम बात करते हैं कि दुसरे निवेश की तुलना में हम Debt Fund me Kyo Nivesh Kare? Why to Invest in Debt Funds?

एक सामान्य और परम्परावादी निवेशक के लिए यह एक बेहतर विकल्प है. Debt Funds फिक्स्ड डिपाजिट की रेंज में ही ब्याज देते हैं, लेकिन उसकी तुलना में टैक्स में अधिक छूट प्रदान करते हैं.

Fixed Deposit से जो आय होती है, वह आपकी आय में जुड़ जाती है और आपको उस slab के अनुसार tax देना पड़ता है.



Taxation in Debt Fund in Hindi

Debt Funds के short-term लाभ भी tax योग्य आय में जुड़ते हैं, लेकिन जब समयावधि तीन वर्ष से ज्यादा होती है, तो tax में ज्यादा फायदा मिलता है.

लम्बे समय के लाभ पर indexation के बाद 20% tax लगाया जाता है. Debt funds fixed deposit की तुलना में ज्यादा तरल हैं.

Fixed Deposit में जहाँ पूंजी lock हो जाती है, वहीं debt funds में उसे कभी भी निकाला जा सकता है. कुल राशि में से कुछ राशी निकालना भी debt funds में संभव है.

Types of Debt Mutual Funds in Hindi

अगर आपको पता न हो तो Debt Mutual Funds भी अलग-अलग तरीके के होते हैं. विभिन्न डेब्ट फण्ड के बिच जो चीज सबसे बड़ा अंतर पैदा करती है वह है परिपक्वता की अवधि यानि maturity.

Dynamic Bond Funds

इसके नाम से ही स्पष्ट है कि यह एक ‘dynamic’ फण्ड, यानि कि ये फण्ड बदलते ब्याज दर के अनुसार अपना portfolio बदलते रहते हैं.

इसकी परिपक्वता की अवधि बदलती रहती है क्योंकि यह ब्याज दर के अनुसार निवेश को कम या ज्यादा समय के लिए लगाते रहते हैं.

Income Fund Kya Hai?

इनकम फण्ड भी ब्याज दर के अनुसार विभिन्न debt securities में निवेश करते हैं. सामान्यता इसकी maturity अवधि लम्बे समय की होती है.

इस कारण से यह dynamic funds की तुलना में ज्यादा स्थिर होते हैं. इनकी औसत maturity अवधि लगभग 5-6 साल की होती है.

Short-term & Ultra Short-term Fund

यह एक समयावधि के debt funds हैं जिनकी परिपक्वता अवधि लगभग तीन साल का होता है. Short-term Funds सामान्य निवेशक के लिए बेहतर होते हैं क्योंकि बदलते ब्याज दरों से यह ज्यादा प्रभावित नहीं होते हैं. इनमें टीम से छः महीने तक के लिए निवेश की जा सकती है.



Liquid Funds in Hindi

यह fund बचत बैंक खाते का अच्छा विकल्प होता है. इनमें maturity अवधि 91 दिनों से ज्यादा नहीं होती है. इसलिए इनमें जोखिम बहुत कम होता है.

कई mutual fund कंपनियां स्पेशल debt cards के माध्यम से liquid fund निवेश को तुरंत निकालने की सुविधा भी प्रदान करती हैं. इसमें एक दिन से लेकर तीन महीने तक के लिए निवेश किया जा सकता है.

Guilt Funds Kya Hai?

यह केवल अधिक रेटिंग वाली सरकारी securities में ही निवेश करते हैं. इनमें credit risk न्यूनतम होता है.

ऐसा इसलिए क्योंकि कई बार corporate debt instruments के रूप में लिए गए loan में default हो जाती है. इसलिए निश्चित आय वाले निवेशक जो इस तरह का risk नहीं लेना चाहते, उनके लिए यह एक अच्छा विकल्प है.

Fixed Maturity Plan (FMP)

Fixed maturity plan (FMP) close end debt fund होते हैं. यह एक fixed deposit की तरह हैं, जो टैक्स में शानदार छूट प्रदान करते हैं, लेकिन इनमें पूंजी को रोकने का एक समय होता है.

Debt Fund Kya Hai

हर FMP में एक निश्चित अवधि तक आपकी पूंजी लॉक रहती है. यह समय कुछ महीनों या सालों का हो सकता है. शुरुआत ऑफर पीरियड में FMP में निवेश किया जा सकता है.



Interest Rate on Debt Funnd Kya Hai?

Fixed Income Securities की कीमत ब्याज दर से विपरीत होती है. जब ब्याज दर बढती है, तो bond की कीमत कम हो जाती है और कम होने पर कीमत ज्यादा.

यही कारण है कि जब ब्याज दर गिरती है, तो debt funds अच्छा मुनाफा कमाते हैं क्योंकि इनकी कीमतें बढ़ जाती हैं.

ब्याज दर जिसके बारे में हम अक्सर खबरों में सुनते हैं, यह Repo Rate और Reverse Repo Rate होती है, जो कि Reserve Bank of India द्वारा तय किया जाता है, उससे प्रभावित होती है.

चलिए Debt Fund Kya Hai? यह तो आपको पता चल ही गया. साथ ही आपने यह भी समझ लिया कि Repo Rate Kya Hai? और Reverse Repo Rate Kya Hota Hai?

Conclusion: Debt Fund Kya Hai?

तो फ्रेंड्स! बस यही है Debt Fund Full Information in Hindi. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Debt Fund in Hindi अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छी तरह से पता चल गया होगा कि Debt Fund Kya Hai? और Debt Fund me Investment करना चाहिए या नहीं?

Debt Fund Kya Hai? इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और Money & Investment Blogs in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमारे Email Newsletter में अपना Email ID दे सकते हैं. इससे आनेवाली सभी आर्टिकल्स की जानकारी आपको ईमेल पर ही मिल जाएगी.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


Debt Fund Kya Hai? Fixed Income Investment with High Return in Hindi
4.5 (90%) 4 votes

About the author

MN Hemant

MN Hemant is a Hindi Tech YouTuber and Blogger from Bokaro, Ranchi, Jharkhand of India. He is a Tech-Lover, heartly passionate about Smartphones, Gadgets and Future Technology.

1 Comment

Leave a Comment