Braille Lipi Kya Hai? ब्रेल लिपि का आविष्कार किसने और कब किया था?

0
42
Braille Script ka Aavishkar Kisne Kiya

Hi Friends! क्या आपको पता है Braille Lipi ka Aavishkar Kisne Kiya tha? ब्रेल लिपि का आविष्कार नेत्रहीन लोगों के लिए किया गया था. यह लिपि नेत्रहीन लोगों की पढाई-लिखाई का एक माध्यम है.

इस लिपि के द्वारा दृष्टिबाधितों को छूकर पढ़ने, लिखने सिखाया जाता है. ब्रेल लिपि का आविष्कार करके नेत्रहीनों की शिक्षा में क्रांति लायी गयी है.

तो, आज मैं आप सभी से इसी विषय पर बात करने जा रही हूँ कि Braille Lipi ka Aavishkar Kisne Kiya tha? अगर आप सोच रहे हैं कि Braille Lipi Kya Hota Hai? तो आप यह आर्टिकल Braille Lipi ki Khoj अंत तक जरुर पढ़ें.

Braille Script in Hindi

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम बात करेंगे कि Braille Lipi Kya Hai? तो मैं आपको बता दूँ कि ब्रेल लिपि एक तरह की पद्धति है, जिसके माध्यम से पुरे विश्व भर के नेत्रहीनों के पढने, लिखने के लिए छूकर या स्पर्श करके उनके व्यव्हार में लाया जा सकता है.

Braille Lipi Inventor in Hindi

अब हम बात करेंगे कि Braille Lipi ka Aavishkar Kisne aur Kab Kiya tha? लुइ ब्रेल ने वर्ष 1825 में एक लिपि का आविष्कार किया, जिसे ‘ब्रेल लिपि’ कहा जाता है.

लुइ ने इस लिपि का आविष्कार कर नेत्रहीन लोगों की जीवन में शिक्षा का दीपक जला दिया. इस कारण लुइ ब्रेल को दुनिया में नेत्रहीन लोगों के मसीहा के रूप में जाना जाता है.

Louis Braille Biography in Hindi

लुइस ब्रेल की जीवनी के बारे में अब बात करेंगे. लुइ ब्रेल का जन्म वर्ष 1809 में फ्रांस के एक छोटे से कस्बे कुप्रे के एक साधारण परिवार में हुआ था. लुइ ब्रेल के पिता का नाम साइमन रेले ब्रेल था.

उनके पिताजी शाही घोड़ों के लिए काठी बनाने का काम करते थें. पारिवारिक जरूरतों और आर्थिक संसाधन के सीमित होने के कारण उनके पिता पर काम का अधिक भार रहता था.

इसलिए अपनी सहायता के लिए उन्होंने तीन साल बेटे लुइ को अपने साथ काम पर लगा लिया. यहीं से लुइ ब्रेल की कहानी शुरु होती है.

Louis Braille Story in Hindi

Braille Lipi ka Aavishkar Kisne Kiya tha? ये जानने के बाद आपके मन में प्रश्न होगा कि लुइ ने Braille Lipi ka Khoj कैसे किया.

Braille Script ka Avishkar Kisne Kiya

तो मैं आपको बता दूँ कि एक दिन पिता के साथ काम करते समय लुइ की आँख में एक औजार से चोट लग गयी. इसके बाद उनकी आँख से खून निकलने लगा.

परिवार के लोगों ने इसे मामूली चोट समझ कर आँख पर पट्टी बांध दी और इलाज करवाने में दिलचस्पी नहीं दिखाई. समय बीतने के साथ लुइ बड़ा होता गया और घाव गहरा होता चला गया.

आठ वर्ष की उम्र में पहुंचते-पहुंचते लुइ की दुनिया में पूरी तरह से अँधेरा छा गया. परिवार और खुद लुइ के लिए यह एक बड़ा आघात था.

लेकिन आठ वर्ष के बालक लुइ ने इससे हारने की जगह, इसे चुनौती के रूप में लिया. परिवार के लोगों ने उनका दाखिला एक पादरी की मदद से पेरिस के एक दिव्यांग स्कूल या अंध-विद्यालय में करा दिया.



Braille Lipi ka Aavishkar Kisne Kiya in Hindi

हम अब बात करेंगे कि Braille Lipi Aavishkar Kaise Hua? ब्रेल लिपि का विचार Louis Braille के दिमाग में फ्रांस की सेना के कैप्टन Charles bar bier से मुलाकात के बाद आया.

चार्ल्स ने सैनिकों द्वारा अँधेरे में पढ़ी जाने वाली night writing और सोनोग्राफी के बारे में लुइ को बताया था. यह लिपि कागज पर उभरी हुई होती थी और 12 बिन्दुओं पर आधारित थी.

इसी को आधार बनाकर उसमें संशोधन कर उस लिपि को 6 बिन्दुओं में बदल कर ब्रेल लिपि का आविष्कार किया.

  • लुइ ने न केवल अक्षरों और अंकों को, बल्कि सभी चिन्हों को भी लिपि में सहेज कर लोगों के सामने प्रस्तुत किया.
  • उसके साथ ही उन्होंने विराम चिन्ह और संगीत के नोटेशन के लिए भी जरुरी चिन्हों का समावेश किया.

Braille Lipi ke Aavishkar ko kab Manyta Mili.

लुइ के निधन के 16 वर्ष बाद 1869 में Royal Institute for Blind Youth ने इस लिपि को मान्यता दी. लुइ ब्रेल ने न केवल फ्रांस में ख्याति अर्जित की, बल्कि अपने देश में भी उन्हें वही सम्मान प्राप्त है, जो दूसरे नायकों को है.

भारत सरकार ने वर्ष 2009 में लुइ ब्रेल के सम्मान में डाक टिकट भी जारी किया था.

Conclusion: Braille Lipi ka Aavishkar Kisne Kiya tha?

तो फ्रेंड्स, बस यही है Braille Lipi Inventor in Hindi. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से भी समझ में आ गया होगा कि Braille Lipi ka Aavishkar Kisne aur Kaise Kiya tha?

ब्रेल लिपि के खोज से सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे Comment कर जरुर बताएं.अगर आप इसी तरह के Informative Blogs in Hindi. पढना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही, मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here