Pregnancy me Konsa Yoga Karna Chahiye? Best Pregnancy Yoga in Hindi

0
27
Best Pregnancy Yoga in Hindi

गर्भावस्था के दौरान किये जाने वाले योग आसन 

Hi friends! यह है Best Pregnancy Yoga in Hindi के बारे में डिटेल लेख. गर्भावस्था में योग करने से शरीर स्वस्थ रहता है. योग और प्राणायाम से गर्भावस्था में मांसपेशियां मजबूत बनी रहती हैं, शिशु स्वस्थ रहता है और सहज प्रसव होता है.

गर्भ के दौरान पेट पर दबाव डालने वाले आसन से बचना चाहिए और कन्धों तथा कमर के ऊपरी हिस्से को मजबूत करने वाली विधियों पर जोर देना चाहिए. ऐसे ही कई सारी बातें हैं, जो आपको गर्भवस्था के दौरान ध्यान देना चाहिए.

तो आज मैं आप सभी को कुछ Best Pregnancy Yoga in Hindi के बारे में बताने जा रही हूँ कि Pregnancy me Kaunsa Yoga Karna Chahiye? अगर आप भी Pregnancy me Kiye Jane wale Yoga के बारे में जानना चाहते हैं तो यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

Best Pregnancy Yoga in Hindi

फ्रेंड्स, सबसे पहले तो गर्भावस्था के दौरान पर दबाव डालने वाले योग आसन से बचना चाहिए. आपका ध्यान साँस लेने पर अधिक होना चाहिए. यौगिक सूक्ष्म व्यायाम तथा पवन मुक्तासन समूह के आसन करना उपयोगी होता है. ऐसे प्राणायाम भी कारगर हैं, जिनमें कुम्भक न लगाना पड़ता हो.

गर्भ के शुरूआती तीन महीनों में खड़े रहने वाले योगासन करने चाहिए, चौथे पांचवे और छठे महीने के दौरान बहुत सरल आसन ही करें और प्राणायाम व meditation पर जोर दें. गर्भावस्था के 10 वें से 14 वें सप्ताह तक कोई भी योगासन नहीं करना चाहिए.

गर्भावस्था में नौकासन, हलासन, भुजन्गासन, चक्रासन, विपरीत शलभासन और अर्द्धमत्स्येन्द्रासन आदि नहीं करना चाहिए. इनके बजाय बद्धकोणासन, विपरीतकरणी, कोणासन, ताड़ासन शवासन और त्रिकोणासन करें, जो सहज प्रसव में तो उपयोगी हैं ही, प्रसव उपरांत शीघ्र सामान्य होने में भी सहायक हैं. हालाँकि, गर्भावस्था में कोई भी आसन योग्य गुरु की देख-रेख में ही करें.

इसे भी पढ़ें: Sattu ke Prakaar aur Phayde

1. Pregnancy Yoga: Sukhasana Kaise Kare?

फ्रेंड्स, Best Pregnancy Yoga in Hindi की सूचि में पहला आसन सुखासन है. इस आसन को करने की विधि कुछ इस प्रकार है.

  • सुखासन करने के लिए सबसे पहले निचे जमीन पर चटाई बिछाकर पालथी लगाकर बैठे.
  • उसके बाद दोनों हाथों को गोद में घुटनों पर रखें.
  • पीठ, गर्दन और सिर बिल्कुल सीधा रखें.
  • अब सुखासन में अनुभव करें कि शरीर में स्थित सातों चक्रों से ऊर्जा निकल रही है और आपको उसका लाभ मिल रहा है.
  • जब तक आप इस आसन में रह सकें, तब तक करें.

Sukhasana Ke Phayde Kya Hai?

  • सुखासन करने से मन शांत होता है, शारीरिक स्फूर्ति का अनुभव होता है.
  • शरीर स्वस्थ और निरोग रहता है, जिसका असर गर्भस्थ शिशु पर पड़ता है, जिससे शिशु भी स्वस्थ रहता है.

2. Titali Aasan Kaise Karte Hai?

आप सभी को पता चल ही गया होगा कि तितली आसन कैसे करते हैं और उसके फायदे क्या है.तो अब हम बात करेंगे दुसरे Pregnancy Yoga के बारे में.

  • तितली आसन में सबसे पहले दोनों पैरों को सामने की ओर मोड़कर तलवों को मिलाएं.
  • उसके बाद दोनों हाथों को क्रॉस करते हुए, पंजों को कसकर पकड़ लें.
  • अब पैरों को तितली के पंखों की तरह ऊपर-निचे करना शुरू करें.
  • सहज श्वास के साथ गति धीरे-धीरे बढ़ाएं.
  • आपकी पीठ और बाहें बिल्कुल  सीधी रहें.
  • 15 बार करने के बाद साँस छोड़ते हुए पंजों को छोड़ दें,और पैरों को फैलाकर विश्राम की स्थिति में आकर आराम करें.


Titali Aasan Ke Phyade

  • तितली आसन गर्भ के माह से उपयोगी होता है. इससे शरीर लचीला रहता है और शरीर के निचले हिस्से के में कमी आती है.
  • इस आसन को करने से प्रसव के लिए तैयार होने में मदद करत है और इससे प्रसव के दौरान परेशानी कम होती है.
  • तितली आसन उपयोगी है, लेकिन कमर दर्द, साइटिका और पीठ दर्द में नहीं करना चाहिए.

Best Pregnancy Yoga in Hindi

3. Ushtrasana (उष्ट्रासन ) Kaise Kare?

उष्ट्रासन Best Pregnancy Yoga in Hindi की लिस्ट में यह बहुत ही फायदेमंद आसन है.इससे रीढ़ की हड्डी मजबूत मजबूत होती है, रक्तसंचार सुचारू रहता है और थकान का अनुभव नहीं होता है.

उष्ट्रासन करने की विधि

  • पहले घुटनों के बल खड़े हो जायें.
  • उसके बाद दोनों घुटनों,एडियों और पंजों को मिला कर साँस लें.
  • अब साँस भरते हुए, धीरे-धीरे शरीर को पीछे की ओर मोड़ते हुए दोनों हाथों से एडियों को छूने की कोशिश करें.
  • थोड़ी ऊपर की ओर गर्दन तथा हाथ सीधे हों.
  • साँस लेते हुए इस स्थिति में 30 सेकंड से 1 मिनट तक रहें और फिर धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आएं.

4. Parvatasana Kaise Karte Hai?

इससे कमर दर्द में राहत मिलती है और प्रसव के बाद शरीर कमजोर नहीं होता है.

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सुखासन में, पीठ सीधी कर के बैठ जायें.
  • अब साँस भरते हुए दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं और हथेलियों से नमस्कार की मुद्रा बनायें.
  • कोहनी सीधी हो, कुछ समय इसी मुद्रा में रहने के बाद सामान्य अवस्था में आ जाएँ.
  • पर्वतासन को दो-तीन बार ही करें.

5. Pranayam Kya Hai?

प्राणायाम Best Pregnancy Yoga in Hindi की अंतिम योग है. इसमें अनुलोम-विलोम, भ्रामरी, योगनिन्द्रा, पूर्ण यौगिक साँस और नाड़ीशोधन प्राणायाम अत्यंत लाभकारी हैं.अनुलोम-विलोम   गर्भावस्था में रक्तचाप को नियंत्रित रखता है. तनावमुक्त रखता है और रक्तसंचार सुचारू रखता है.

किन्तु इसके अलावे और भी लाभदायक प्राणायाम है, उज्जायी प्राणायाम के साथ वज्रासन. इस प्राणायाम से अनिंद्रा और चिंता दूर होती है.

Pranayam Kaise Kare?

  • प्राणायाम करने के लिए पैरों को पीछे की ओर मोड़कर नितंबों को एडियों पर रखकर बैठें.
  • अब अपने गले को थोडा संकुचित करते हुए, धीरे-धीरे इस प्रकार श्वास लेने का प्रयास करें, जिससे लगे कि आप गले से श्वास लेने की कोशिश कर रहे हैं.
  • इस क्रम में थोड़ी आवाज होगी. जब ह्रदय तक में साँस भर जाये, तो उसे दाहिनी नासिका को बंद कर बायीं नासिका से बाहर निकल जाने दें.
  • साँस भरते समय सीना फुलाएं. इसे जितना ही करें.

Conclusion: Best Pregnancy Yoga in Hindi

तो फ्रेंड्स, बस यही है Pregnancy Yoga Poses in Hindi के बारे में एक डिटेल लेख. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Best Pregnancy Yoga in Hindi अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे-से समझ में आ गया होगा कि Pregnancy me Kaunsa Yoga Karna Chahiye?

Garbhavastha ke Samay Kiye Jane wale Yoga Poses से सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो आप हमें निचे comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और भी Health Blogs in Hindi पढ़ना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए बस इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


Pregnancy me Konsa Yoga Karna Chahiye? Best Pregnancy Yoga in Hindi
4.8 (95%) 4 vote[s]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here