Yoga Kya Hai? Bachcho ke liye Upyogi Yoga: Yoga Karne ka Sahi Time

3
84
Bachcho ke liye Upyogi Yoga

Yoga ke Phayde: International Yoga Day (21 June)

Hi friends! क्या आपको Bachcho ke liye Upyogi Yoga के बारे में पता है? आप सभी जानते हैं कि योगासन हमारे शरीर को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रखता है, लेकिन ऐसे लोग बहुत ही कम हैं जो इसका पालन करते हैं.

आज के busy lifestyle में बच्चों के लिए भी इसकी बहुत ही जरुरत है. क्योंकि आप सभी देखते होंगें कि बच्चे स्कूल जाते हैं, और आने के बाद ट्यूशन जाते हैं, उसके बाद होमवर्क और self study करते हैं.

इस तरह से बच्चों का पूरा दिन का समय कैसे बीत जाता है, उन्हें पता भी नहीं चलता है. कभी एक-दो घंटा Mobile Games खेल लेते हैं, लेकिन किसी दिन इसका भी समय नहीं मिल पाता है.

अभी International Yoga Day (21 June) भी आने वाला है, इसलिए मैंने सोचा कि मैं आपसे Bachcho ke liye Upyogi Yoga के बारे में बात करूँ, जिससे वे फिट तो रहे ही हैं, साथ ही उनका मानसिक विकास भी अच्छे-से हो. अगर आप भी Best Yoga for Children के बारे में जानना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

What is Yoga in Hindi?

फ्रेंड्स, अगर आपको पता न हो, तो सबसे पहले हम यह जानते हैं कि Yoga Kya Hai? योग प्राचीन भारत की अद्भुत और विश्व में लम्बे समय तक जीवित रहने वाला दर्शन है.

Yoga (योग) शब्द संस्कृत भाषा के ‘युज’ से बना है जिसका अर्थ है, जोड़ना या एकत्र करना. यह व्यक्ति के शरीर के सभी तत्वों को जोड़ने या एकीकृत कर समाविष्ट करने का काम करता है.

योग मनुष्य के मस्तिष्क को नियंत्रित करता है. और इससे बच्चों को  आतंरिक शांति तथा आनंद प्राप्त होती है. अगर आप भी उनमें से हैं, जो योग कभी नहीं करते हैं; तो कम-से-कम आनेवाले International Yoga Day (21 June) को योग जरुर करें.

Benefits of Yoga in Hindi

Yoga Kya Hota Hai? यह तो अब आपने जान लिया होगा, अब हम बात करते हैं कि Yoga ke Phayde Kya Hai? योग तनावपूर्ण दबावों से मुकाबला करने में मदद करता है. जब बच्चे खुद को स्वस्थ रखने, विश्राम और आतंरिक पूर्ति के लिए तकनीके सिखते हैं, तो वे जीवन की चुनौतियों को आसानी से manage कर सकते हैं. नियमित रूप से योग करने से बच्चों को कई फायदे हैं.

  • शारीरिक रूप से यह उनके शरीर को लचीला, शक्ति संपन्न, समन्वय और जागरूकता बढाता है.
  • यह memory sharp करने में सहायक है.
  • योग दिमाग और शरीर को relax करने में मदद करता है.
  • इससे बच्चों को आतंरिक शांति एवं आनंद मिलती है.
  • बच्चे में एकाग्रता और स्मरण शक्ति विकसित करता है.
  • योग आत्म सम्मान, आत्माभिव्यक्ति, आत्मविश्वास को बढाने में मदद करता है.

Bachcho ke liye Upyogi Yoga

वैसे तो कई तरह के योगासन हैं, लेकिन सभी को बच्चे नहीं कर पाते हैं. तो अब हम कुछ सरल योगासन के बारे में बात करते हैं, जो बच्चे काफी आसानी से कर सकते हैं.



Tree Pose Yoga: Vrikshasana Kaise Kare?

यह आसन बच्चों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. वृक्षासन बच्चे में संतुलन और एकाग्रता में सुधार लाता है. यह पैर, छाती और जांघों के मांसपेशियों को मजबूत करता है.

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सीधे खड़े होना है. पैर की दुरी अधिक न हो.
  • उसके बाद दायें पैर को हाथों की सहायता से बाएं पैर की जांघ पर रखें. तलवे की दिशा निचे की ओर करें तथा पैर मुड़ा हुआ न हो.
  • अब साँस लेते हुए दोनों हाथों को सिर से स्पर्श करते हुए ऊपर की ओर ले जाएँ, और हाथों को प्रार्थना मुद्रा में रखे.
  • फिर साँस छोड़ते हुए हाथों को निचे जांघों के सामने रखें. ऐसा 4-5 बार करें.
  • अगर सीधे खड़े होकर नहीं हो रहा है, तो आप शुरूआत में दीवार का सहारा लेकर भी कर सकते हैं.

Bachcho ke liye Upyogi Yoga

इसे भी पढ़ें: Top 5 Yoga Poses aur Phayde

Cobra Pose Yoga: Bhujangasana Kaise Kare?

भुजंगासन शब्द संस्कृत भाषा है, जिसका अर्थ है ‘सर्प’. इस आसन में शरीर को सर्प की तरह करना होता है. यह आसन रीढ़ की हड्डी को मजबूत करता है. थकान और stress को दूर करता है. अस्थमा जैसे साँस लेने की समस्या के लिए फायदेमंद होता है.

  • सबसे पहले जमीन पर पेट के बल लेट जाएँ, और पैरों के तलवे को सीधे रखें तथा दोनों हथेलियों के कोहनियों के सामने जमीन पर रखें.
  • आँखें बंद करके सिर को जमीन पर रखे. उसके बाद साँस लेते हुए माथा को ऊपर उठायें, फिर हथेलियों की सहायता से पीठ एवं कमर को उठाएं और ऊपर की ओर देखें.
  • उसके बाद साँस छोड़ते हुए वापस उसी अवस्था में आयें और जमीन पर पेट के बल लेटकर आराम करें.

Bhujangasana करते वक्त एक जरुरी बात ध्यान रखें कि आप जितनी आसानी से पीठ पर दबाव बना सकते हो, उतनी ही लें. इसे जबरदस्ती न करें.

Easy Pose Yoga: Sukhasana Kaise Kare?

यह आसन stress को दूर कर शांति प्रदान करने में मदद करता है. पीठ, thighs, पैरों की muscles strong होती हैं. Bachcho ke liye Upyogi Yoga में से ये सुखासन काफी लोकप्रिय है.

  • इसे करने के लिए पैरों को cross या आलती-पालती मार कर बैठें.
  • बाएँ पैर को मोड़ें और दायें पैर की thigh पर या दायें पैर के घुटने के निचे रखें और गर्दन, सिर तथा रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें.
  • उसके बाद साँस लेते हुए कोहनियों को ढीला रखते हुए हाथों को जांघों के ऊपर रखें.
  • साँस अन्दर लें और छोड़ें. इसे कम-से-कम 10 बार अभ्यास करें.

Sukhasana करते वक़्त यह सावधानी जरुर बरते कि पीठ दर्द या पैरों में दर्द हो तो यह आसन न करें.



Best Time for Yoga in Hindi

अब आपमें से काफी लोगों के मन में एक सवाल जरुर होगा कि Yoga Karne ka Sahi Time Kya Hai? योगाभ्यास करने का सबसे अच्छा समय सुबह का माना जाता है, क्योंकि सुबह हम करीब 6 घंटे खाली पेट रहते हैं.

सूर्योदय का समय सबसे अच्छा माना जाता है, क्योंकि इस दौरान पेट काफी हल्का होता है और नींद लेने के बाद शरीर काफी relax होता है. योग विशेषज्ञों का मानना है कि नित्य क्रिया के बाद व्यक्ति जब योग करता है, तो उसे ज्यादा लाभ मिलता है.

Conclusion: Bachcho ke liye Upyogi Yoga

तो फ्रेंड्स! बस यही हैं कुछ International Yoga Day (21 June) Best Yoga for Children in Hindi. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Bachcho ke liye Upyogi Yoga अच्छा लगा होगा. और अब आपको यह भी अच्छे से पता चल गया होगा कि Yoga Kya Hota Hai? Yoga Karne ka Sahi Time Kya Hai?

Bachcho ke liye Upyogi Yoga से सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और Health Blogs in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here