Aachar Sanhita Kya Hai? Election Code of Conduct in Hindi

6
133
Aachar Sanhita Kya Hai

आदर्श आचार संहिता के बारे में पूरी जानकारी

Hi friends! क्या आपको पता है कि Aachar Sanhita Kya Hai? चुनावी प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही आचार संहिता लागू हो जाता है, जिसे सभी व्यक्ति पालन करते हैं, चाहे नेता हो या आम जनता.

अगर कोई व्यक्ति इन नियमों को पालन नहीं करता है, तो चुनाव आयोग उस व्यक्ति के विरुद्ध क़ानूनी करवाई कर सकता है. यह कानून चुनाव के शुरुआत से लेकर जब तक परिणाम की घोषणा होती है, तब तक रहता है.

इसके तरह कई नियम व कानून हैं, जिसके बारे में काफी कम लोगों को पता है. और इस कारण काफी लोग तो इसके नाम से ही डरते हैं.

तो आज मैं आपसे इसी विषय पर बात करने जा रहा हूँ कि Aachar Sanhita Kya Hai? अगर आप भी Model Code of Conduct Election Rules in Hindi के बारे में जानना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

cVIGIL App से आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत कैसे करें?

Aachar Sanhita Kya Hai?

सबसे पहले हम बात करते हैं कि आखिर ये Aachar Sanhita Kya Hai? इसे अंग्रेजी में Model Code of Conduct कहा जाता है.

चुनाव आचार संहिता का मतलब है कि चुनाव आयोग का एक ऐसा कानून जो चुनाव का तारीख तय होने से शुरू होता है और मतगणना होने तक रहती है.

Election Commission के आचार संहिता को सभी पार्टी और सभी उम्मीदवार को पालन करना होता है. अगर कोई भी उम्मीदवार इन नियमों को पालन नहीं करता है, तो चुनाव आयोग के आयुक्त उस उम्मीदवार के विरुद्ध क़ानूनी करवाई कर सकते हैं. और उसे चुनाव लड़ने से रोक सकता है.

इतना ही नहीं, अगर कोई उम्मीदवार दोषी पाया जाये, तो इस परिस्थिति में उसे जेल भी जाना पड सकता है. और ये कानून आम जनता पर भी लागू होती है.

इसे भी पढ़ें: One Nation One Election in Hindi

Aachar Sanhita ki Jarurat

आपमें से काफी लोगों के मन में एक सवाल जरुर होगा कि Election me Aachar Sanhita Kyo Lagaya Jaata Hai? आखिर इसकी जरुरत क्या है, What is the Importance of Aachar Sanhita in Elections?

Aachar Sanhita Kya Hai

तो मैं आपको बताना चाहता हूँ कि स्वतन्त्र एवं निष्पक्ष चुनाव करने के लिए चुनाव आयोग आचार संहिता लागु करता है. चुनाव की तिथि के घोषणा के दिन से ही आचार संहिता लागु हो जाता है, जिसे सभी पार्टी के उम्मीदवार, सरकार, नेता तथा आम जनता इसका पालन करते है.

इसे भी पढ़ें: Election Exit Poll Kya Hota Hai?

आचार संहिता में कोई भी उम्मीदवार किसी पार्टी का सहारा लेकर आमजनता को भड़का नहीं सकता है. आचार संहिता के समय किसी तरह का कोई सरकारी कार्य नहीं किया जाता है.

उम्मीदवार जनता को विकास का भाषण देकर या किसी तरह का सार्वजनिक कार्य करके जनता को अपनी और आकर्षित करने का प्रयास आचार संहिता में नहीं कर सकता है.

नेता और उम्मीदवार की मनमानी पर रोक लगाने के लिए आचार संहिता लगाया जाता है. चुनाव के समय उम्मीदवार मत पाने के लिए किसी भी तरह का भ्रष्टाचार, रिश्वत या मतदाताओं को परेशान नहीं कर सकता है. तो अब हम Aachar Sanhita Kya Hai? के साथ-साथ इसके कुछ नियमों के बारे में बात करते हैं.



Rules of Aachar Sanhita Kya Hain?

आचार संहिता के तहत सभी स्थितियों के लिए अलग-अलग नियम हैं. तो सबसे पहले हम Aachar Sanhita General Rules यानि सामान्य नियम के बारे में बात करते हैं, जो निम्न हैं:

  • कोई भी पार्टी ऐसा काम नहीं करें, जिससे किसी जाति, धर्म या समुदाय के बीच मतभेद हो.
  • Vote पाने के लिए किसी तरह का भ्रष्ट आचरण न करें, जैसे-किसी तरह का रिश्वत न दे, मतदाताओं को तंग आदि न करें.
  • बिना अनुमति के किसी व्यक्ति के घर या जमीन चुनाव प्रचार के लिए न करें.
  • राजनीतिक पार्टी किसी दल की सभा या प्रचार जुलुस में किसी तरह का बाधा न डालें.

Aachar Sanhita Election Rules in Hindi

  • चुनाव में भाग लेने वाले सभी कार्यकर्ताओं को Identity Card देना.
  • Voters को दी जाने वाली voter card की पर्ची सफेद कागज पर हो और उसमें किसी पार्टी का नाम, चुनाव चिन्ह न हो.
  • मतदान केंद्र (Booth) के सामने भीड़ न लगायें.
  • चुनाव के तिथि के दिन से 48 घंटे पहले किसी भी पार्टी का नेता को शराब वितरण करने की मनाही है.

Read Also: Voter ID with Photo Kaise Download Kare?

Chunav-Prachar Aachar Sanhita Rules

  • जुलूस निकालने का समय, शुरू होने का स्थान, मार्ग और समाप्ति का समय तय करके पुलिस को सूचना देना.
  • प्रचार का इंतजाम ऐसा होना चाहिए, जिससे की यातायात प्रभावित न हो.
  • सड़क के दायीं ओर जुलूस निकला जाए, जिससे किसी को परेशानी न हो.
  • किसी ऐसे चीजों का प्रयोग न करें,जिनका लोगों पर बुरा प्रभाव डालें.
  • Loudspeaker के उपयोग के लिए दिशा-निर्देश बनायें गए है. इसके अनुसार ग्रामीण क्षेत्र में सुबह 6 से रात 11 बजे तक और शहरी क्षेत्र में सुबह 6 से रात 10 बजे तक इनके उपयोग की अनुमति होती है.
  • अगर दो पार्टी एक दिन एक ही रास्ते में जुलूस निकालता है, तो इसकी जानकारी वह इअका निर्णय कर लें, तथा पुलिस को सूचना करें.


Ruling Party Aachar Sanhita Rules

  • मंत्री शासकीय दौरों के दौरान चुनाव का प्रचार का काम न करें.
  • सरकारी गाड़ियाँ और विमान का प्रयोग किसी दल के हितों को बढ़ावा देने के लिए न करें.
  • सत्ताधारी दल कैबिनेट की बैठक नहीं करेंगे.
  • किसी तरह का सरकारी धन पर विज्ञापनों के जरियें किसी दल का प्रचार न करें.

Political Meeting Aachar Sanhita ke Niyam

  • पार्टी या अभ्यर्थी पहले ही पता कर लें कि जो स्थान उन्होंने सभा के लिए चुना है, वहां पर सभा करना निषेध तो नहीं है.
  • सभा के स्थान एवं समय की पूर्व सूचना पुलिस को दें.
  • प्रचार में Loudspeaker के उपयोग की लाइसेंस लें.
  • कार्यकर्ता सभा में रूकावट डालने वाले लोंगो से निपटने के लिए पुलिस की सहायता करें.

Election Aachar Sanhita ke Niyam यही सब हैं. अगर आप Model Code of Conduct Election Rules Full Information in Hindi के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप निचे दिए गए विडियो को भी देख सकते हैं.

 Conclusion: Aachar Sanhita Kya Hai?

तो फ्रेंड्स! बस यही हैं कुछ Aachar Sanhita ke Niyam, जिन्हें चुनाव के दौरान सभी को पालन करना पड़ता है. मुझे आशा है कि आपको यह आर्टिकल Model Code of Conduct in Hindi अच्छा लगा होगा. और अब आपको यह भी अच्छे-से समझ में आ गया होगा कि Aachar Sanhita Kya Hai?

Election Aachar Sanhita ke Niyam से सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और Informative Blogs in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here