5G Network Kya Hai? India me 5G Kab Aaega?

1
59
5G Technology Kya Hai

4G vs 5G Technology Kya Hai?

Hi friends! क्या आपको पता है कि 5G Technology Kya Hai? डिजिटल डेटा नेटवर्क की पांचवीं पीढ़ी यानि 5G (5th Generation) बहुत जल्द इस्तेमाल की जा सकेगी. अनेक देशों में इसे लाने की कवायद जोरों पर है.

Digital Information Technology की यात्रा में 2G Network के साथ मेसेज करने की शुरुआत हुई, तो 3G Network ने मोबाइल फ़ोन को इन्टरनेट से जोड़ दिया. High-speed Processing Chip के विकास, ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क और Wireless Network के साथ 4G Network की आमद हुई.

यह एक बड़ी उपलब्धि थी और इसने मोबाइल फ़ोन को सही मायने में स्मार्टफ़ोन बना दिया और अब वह पूरी तरह से एक कंप्यूटर ही बन गया. 4G के बाद अब लोगों को 5G का इंतज़ार है.

तो आज मैं आपसे इसी विषय पर बात करने जा रहा हूँ कि आखिर ये 5G Technology Kya Hai? High-speed Internet वाला 5G Network India me Kab Aaega? अगर आप भी 5G Technology in Hindi के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं, तो यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

इसे भी जानें: 1G, 2G, 3G & 4G Technology Kya Hai?

5G Technology Kya Hai?

फ्रेंड्स, सबसे पहले हम यह जानते हैं कि 5G Network Kya Hai? तो मैं आपको बताना चाहूँगा कि वर्त्तमान में जो 4G Network है, उसका यह अपग्रेडेड वर्शन होने वाला है.

पांच भिन्न तकनीकों के सामंजस्य से 5G की रूप-रेखा बनती है. इनमें millimeter waves, small cell, massive MIMO, beamforming और full duplex शामिल हैं. हमारे मौजूदा स्मार्टफ़ोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक devices, जैसे- टीवी या Wi-Fi छः Giga Hertz से निचे की फ्रीक्वेंसी पर चलते हैं.

इन्टरनेट उपकरणों की बढती संख्या के चलते यह फ्रीक्वेंसी जाम हो रही है और इसकी गति धीमी पड़ रही है. अब मिलीमीटर वेव्स के जरिये 30 से 300 Giga Hertz के खाली फ्रीक्वेंसी बैंड को इस्तेमाल में लाने की कोशिश हो रही है. पर इनका वेवलेंथ बहुत छोटा होता है, सो मिलीमीटर वेव्स बहुत अच्छे से गतिशील नहीं हो पाती हैं.

5G Technology Kya Hai India me Kab Aaega

5G Network Connection Kaisa Hoga?

ये बड़े पेड़ या बड़ी इमारतों जैसी बाधा को पार नहीं कर पाती हैं. बारिश और पेड़ भी इन तरंगों को सोख लेते हैं. इस दिक्कत से पार पाने के लिए इसके साथ small cell technology को भी जोड़ा जा रहा है.

फिलहाल डेटा ट्रान्सफर के लिए लम्बे टावरों का इस्तेमाल होता है. इन टावरों से अगर मिलीमीटर वेव्स छोड़ी भी गयीं, तो वे बाधाओं से टकराने की वजह से बेकार हो जाएँगी.

इस परेशानी से निबटने के लिए अब एक बड़े टावर के आस-पास कई छोटे-छोटे small cell base point लगाने की योजना है, जो टावर की आवृत्तियों को ट्रांसफ़ॉर्मरों की तरह आगे प्रसारित कर सकेंगे.

Multiple Input & Multiple Output (MIMO) की तकनीक massive MIMO का भी इस्तेमाल 5G में किया जा रहा है. Massive Maimo बेस्ड स्टेशनॉन में एंटीनाओं पर 100 से ज्यादा पोर्ट होंगे, जबकि 4G के टावरों में एंटीनाओं के लिए करीब दर्जन भर पोर्ट होते हैं.

इतने ज्यादा सिग्नलों के cross connection को रोकने के लिए beamforming तकनीक का इस्तेमाल होता है. इसके माध्यम से सिग्नल बिना परस्पर उलझे निर्धारित दिशाओं में प्रसारित होंगे. Full duplex तकनीक incoming & outgoing data को एक साथ नियंत्रित करेगी.

इसे भी पढ़ें: 3D Printing Technology Kya Hai?

5G ki Internet Speed Kitni Hogi?

पांचवीं पीढ़ी का नेटवर्क, 5G Technology Kya Hai? इसके बारे में तो आपको मालूम पड़ ही गया होगा. अब हम बात करते हैं कि 5G Network ka Speed Kitna Hoga?

4G आने के बाद, डाटा स्पीड के तेज होने की वजह से GPS Navigation, Instant Audio & Video Messaging और विभिन्न उपयोगों के लिए app का इस्तेमाल होने लगा. अब मोबाइल फ़ोन मनोरंजन और संवाद का प्रमुख साधन बन गया है.

यदि 4G Network बहुत बढ़िया स्पीड दे रहा है, तो वह आम तौर पर 45 MBps (MegaByte Per Second) होती है. ऐसा माना जा रहा था कि इसमें बढ़ोतरी की जा सकती है. परन्तु टेलीफोनी के तेज विस्तार से इस नेटवर्क सिस्टम पर दबाव बहुत बढ़ा दिया है.

अब 5G की धमक है और माना जा रहा है इसमें इन्टरनेट की स्पीड और डेटा ट्रान्सफर की बेहद तेज गति डिजिटल संचार को पूरी तरह से बदल कर रख देगी. जानकारों की मानें, तो 5G Network में इन्टरनेट की गति 1000 MBps तक जा सकती है, जो कि 4G की तुलना में कई गुना अधिक होगी.



Applications of 5G Technology in Hindi

  • इस अत्याधुनिक तकनिकी संगम से wireless network बहुत तेज हो सकेगा और data transfer की गति में बड़े पैमाने में बढ़ोतरी होगी.
  • यह उल्लेखनीय है कि 5G तकनीक के इस्तेमाल का दायरा स्मार्टफ़ोन पर विडियो देखने से कहीं ज्यादा बड़ा है.
  • इसकी मदद से बिना चालक के वाहन चालन, स्मार्ट शहरों और घरों का संचालन, virtual reality और तेज real-time update जैसे काम हो सकेंगे.
  • 5G के माध्यम से दो उपकरण आपस में सिग्नलों के माध्यम से automatic communication करने में सक्षम होंगे.
  • उदाहरण के लिए बिना चालक के दो वाहन सामंजस्य बैठाकर आपस में दूरी और गति जैसी सूचनाओं का आदान-प्रदान कर सकते हैं.
  • 5G 3D यानि त्रिआयामीय (Three Dimensional) डेटा में भी live real-time में बदलाव करने में सक्षम होगा. ऐसे में Virtual Reality का स्तर अकल्पनीय दौर में पहुंचा सकता है.
  • उदहारण के लिए आप अगर एक Virtual Reality चश्मे से वर्चुअल बॉक्स देख रहे हैं, तो 5G Network के साथ आप रियल टाइम में उस बॉक्स को घुमा सकते हैं, खोल सकते हैं, उस पर निशान लगा सकते हैं और उसकी दीवारें भी अलग कर सकते हैं या बदल सकते हैं.

5G Network ke Nuksan

5G Technology Kya Hai? इसके बारे में जानने के बाद आप तो बहुत खुश हुए होंगे कि अब हमें 1000 Mbps Internet Speed मिलेगी. यह बात बिलकुल सही है, लेकिन 5G Technology ke Nuksan की भी चिंता जताई जा रही है.

  • यह नेटवर्क खास तौर पर शहरों को millimeter waves के जाल में बदल देगा.
  • कीट-पतंगों और पंछियों का जीवन इन तरंगों से तबाह हो सकता है.
  • स्वास्थ्य से जुड़े कुछ शोधों का दावा है कि 5G इंसान की कोशिकाओं और DNA को भी नुकसान पहुंचाएगा. इससे मानव और अन्य जीवों के शरीर का तापमान भी बढ़ सकता है.
  • जलवायु परिवर्तन, वैश्विक तापमान में वृद्धि तथा बढ़ते प्रदुषण से जूझती दुनिया के लिए 5G एक बड़ा खतरा बन सकता है.
  • इन आशंकाओं को दूर करने की कोशिशें भी गंभीरता से नहीं हो रही हैं.

China समेत दुनिया के कुछ देश 5G Network का इस्तेमाल करने का फैसला ले चुके हैं तथा भारत समेत बहुत-से देशों में इसके परिक्षण को अनुमति मिल चुकी है. उम्मीद है कि इस सम्बन्ध में दुष्परिणामों को लेकर लोगों को भरोसे में लेने की कोशिश होगी.



India me 5G Kab Aaega?

अभी तक आपमें से लगभग सभी लोगों को यह काफी अच्छे-से पता चल ही गया होगा कि 5G Technology Kya Hai? अब आपके मन में एक सवाल जरुर होगा कि India me 5G Network Kab Aayega?

पिछले महीने केन्द्रीय संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने घोषणा की कि सरकार जल्द ही ऐसे स्पेक्ट्रम की नीलामी करेगी, जिनका इस्तेमाल 5G सेवाओं के लिए किया जा सकता है. सरकार ने सितम्बर तक इस तकनीक का परिक्षण शुरू करने का भी फैसला लिया है और इसके लिए वैश्विक स्तर पर अग्रणी कंपनियों से प्रस्ताव मांगे गए हैं. अगले साल तक 5G सेवाएँ शुरू करने का लक्ष्य भी रखा गया है.

एक सरकारी रिपोर्ट के अनुसार 2035 तक भारतीय अर्थव्यवस्था पर इस तकनीक से एक ट्रिलियन डॉलर का प्रभाव पड़ सकता है. Ericsson कंपनी की एक रिपोर्ट का मानना है कि 5G सेवाएँ हमारे देश में 2026 तक 27 अरब डॉलर का राजस्व जोड़ सकती है. मोबाइल ऑपरेटरों के वैश्विक संगठन GSMA का कहना है कि 2025 तक देश में सात करोड़ 5G connection संभावित हैं.

Conclusion: 5G Technology Kya Hai?

तो फ्रेंड्स! बस यही है Full Information of 5G Network in Hindi. मुझे आशा है की आपको यह आर्टिकल 5G Technology Kya Hai? अच्छा लगा होगा. और अब आपको यह भी अच्छे-से पता चल गया होगा कि India me 5G Kab Aaega?

4G vs 5G Technology Kya Hai? इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल हो, तो निचे Comment कर जरुर बताएं. अगर आप इसी तरह के और Tech Blogs in Hindi पढना चाहते हैं, तो आप हमें follow कर सकते हैं.

अभी के लिए इतना ही, जल्द ही मिलेंगे किसी नए topic के साथ. Keep Reading… Keep Growing…


5G Network Kya Hai? India me 5G Kab Aaega?
4.8 (96%) 5 vote[s]

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here